Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

अखिलेश को आयी आज़म की याद!

लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी राज्य मुख्यालय लखनऊ।चुनाव की आहट दिखाई देने लगी है इसके साथ ही नेताओं के द्वारा घड़ियाली आँसू बहाने की शुरूआत भी हो गई| सपा के सीईओ अखिलेश यादव
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

धर्मांतरण कानून संविधान विरोधी ही नहीं मौलिक अधिकारों का उल्लंघन भी है

आज जहां दुनिया टेक्नोलॉजी / साइंस, व्यवसाय आदि में कामयाबी हासिल कर रही है वही हमारी सरकार सिर्फ सिर्फ लव जिहाद (कथित धर्म परिवर्तन) को रोकने पर आतुर है. किसी अन्य क्षेत्र
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

ग़ीबत, ऐबजोई, तानाज़नी और नाहक़ माल हड़पना जहन्नम में ले जाने वाले गुनाह हैं

डॉ॰ मुहम्मद नजीब क़ासमी संभली सूरह अलहुमज़ा का तर्जुमा: बड़ी खराबी है उस शख़्स की जो पीठ पीछे दूसरों पर ऐब लगाने वाला, (और) मुँह पर ताने देने का आदी हो, जिसने
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

कांग्रेस के लिए एक सदमे से कम नहीं अहमद पटेल का यूँ चले जाना

इंस्टैंट ख़बर ब्यूरो दुनिया में जो आया है उसे जाना ही पड़ता है, कांग्रेस के संकटमोचक अहमद पटेल भी आज इस नश्वर संसार से चले गए| अहमद पटेल का निधन आज के
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

ओवैसी का उभार, कौन है ज़िम्मेदार?

लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी राज्य मुख्यालय लखनऊ।बिहार चुनाव के परिणाम सेकुलरिज्म की ताल ठोंकने वाले दलों के साथ-साथ विषैली सियासत के खेवनहारों के लिए भी बहुत कुछ सबक़ दे गया है सबसे
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा 

ग़दर पार्टी शहीद दिवस दीवान सुशील पुरी करतार सिंह सराभा क्रांतिकारी के बलिदान की गाथा ने ना जाने कितने नौजवानों को शहीदों की पंक्तियों में खड़ा कर दिया था तभी तो शहीदे आजम
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

सभी त्योहारों से बहुत अलग होता है भाईदूज

पटना: भाई दूज या भैयादूज के त्योहार को भाई-बहन के पवित्र बंधन और प्रेम के लिए जाना जाता है। भाई दूज अन्य सभी त्योहारों से बहुत अलग माना जाता है। ऐसा इसलिए
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

धर्मनिरपेक्षता की राजनीति से भाजपा से नहीं लड़ा जा सकता

(कँवल भारती) जिस तरह उत्तर प्रदेश में भाजपा ने मायावती को मुख्यमंत्री बनाकर अपना जनाधार बढ़ाया, उसी तरह उसने बिहार में नितीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाकर अपनी ताकत बढ़ाई. मायावती और नितीश
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

आरोग्य जीवन केवल आयुर्वेद से ही सम्भव

डाॅ0 शिव शंकर त्रिपाठी ‘’शरीरमाद्यं खलु धर्मसाधनम्’’धर्म का प्रमुख साधन शरीर है, यदि शरीर स्वस्थ नहीं है तो हम धर्म (नियमित कार्यों) का पालन सुचारू रूप से नहीं कर सकते हैं अतः
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInEmail this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

बसपा की भाजपा से फिर शुरू हुई गलबहियाँ

उमाकांत श्रीवास्तव बहन जी,अब आप चाहकर भी इस सच को झुठला नहीं सकतीं कि आपने राज्यसभा की एक सीट के बहाने भाजपा से खुलेआम गलबाहियाँ की हैं। आंकड़े इस बात की गवाही