Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

मेहनतकशों को चाहिए नया गणतंत्र!

लाल बहादुर सिह, नेता, आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट देश के बहुसंख्य आमजन-मेहनतकशों के लिए ऐसी सरकार, ऐसे राज्य के बने रहने का तर्क खत्म हो गया है! कोरोना की आपदा तो वैश्विक
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

प्रवासी मजदूरों के प्रति पूंजीवादी- सामंती व्यवस्था के बर्बर रूख का पर्दाफाश

राजेश सचान, संयोजक युवा मंच रेलवे ने कल 12 मई से 15 जोड़ी यात्री एसी ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। इसमें लाकडाऊन में फंसे हुए लोग यात्रा कर सकते हैं अन्य
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

लॉकडाउन में एतेकाफ और ईद की नमाज का तरीका

डॉक्टर मुहम्मद नजीब क़ासमी कोरोना वाइरस के कारण लॉकडाउन जारी है। बीमारी के फैलाव के कारण लॉकडाउन का बढ़ाया जाना तकरीबन यकीनी है। अर्थात काफी सम्भव है कि इस वर्ष ईदुल फित्र
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

मदर्स डे स्पेशल–कोरोना का बोझ भी उठा लेगी माँ

ज़ीनत शम्स मदर्स डे मनाने का विचार सन 1870 में अमेरिका की जूलिया होव को आया था| हर वर्ष वह मदर्स डे मनाकर महिलाओं को प्रोत्साहित करती थीं| दस वर्षों तक जूलिया
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

कोरोना की आड़ में तानाशाही की ओर बढ़ रही सरकारें

दारापुरी यह सही है कि कोरोना से लड़ने के लिए सरकारों को कुछ विशेष व्यवस्थाएं एवं नियम कानून लागू करने पड़ते हैं ताकि इस में किसी प्रकार की अनावश्यक बाधा उत्पन्न न
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

चाचा की स्थापित कयादत की हत्या करने वाला अब कयादत की दुहाई दे रहा है

सहारनपुर के फेसबुकियां नेता की सोशल मीडिया पर हो रही है आलोचना तौसीफ कुरैशी राज्य मुख्यालय लखनऊ।कोरोना वायरस कोविड-19 जैसी महामारी के चलते भी सहारनपुर की सियासत में आरोप प्रत्यारोप का दौर
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

मज़दूर कहें या मजबूर

ज़ीनत शम्स लोकतन्त्र में शासक का कर्तव्य सर्वसाधारण के लिये न्याय की स्थापना करना है। एक संवेदनशील व्यक्ति ही न्याय को परिभाषित कर सकता है। कोरोना क्या आया मानो हमारे देश के
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

धर्म के व्यवसाय पर कोरोना का कितना बड़ा प्रभाव?

ज़ीनत शम्स धर्म एक सामाजिक, सांस्कृतिक व्यवस्था है जो हमारे व्यवहार, नैतिकता, संसार और मानव जीवन का एक व्यापक विचार और मानवता को मिलकर बना है| धर्म में आस्था से अर्थव्यवस्था भी
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

चलिए इस बार ईद को नया आयाम दें–

ज़ीनत शम्स कोरोना ने रमज़ान के इस पवित्र महीने में इस बार लोगों को घरों में ही इबादत करने पर मजबूर कर दिया है| पहली बार आज की पीढ़ी के मुसलमानों ने
Tweet about this on TwitterShare on LinkedInShare on Google+Email this to someoneShare on FacebookShare on Whatsapp

रिटेल सेक्टर में बढ़ता विदेशी निवेश स्वदेश के लिए खतरे की घंटी

ज़ीनत शम्स भारत एक विकासशील देश है और जनसँख्या अधिक होने के कारण यहाँ पर खुदरा व्यापार का क्षेत्र बहुत बड़ा है| भारत में लगभग 6 करोड़ खुदरा दुकानदार हैं और लगभग