नेपाल में भूकम्प का तांडव, मृतकों की संख्या 1100 के पार

नेपाल में भूकम्प का तांडव, मृतकों की संख्या 1100 के पार

काठमांडू: नेपाल में आए भूकंप में मरने वालों की तादाद 1100 को पार कर गई है. एक पुलिस प्रवक्ता ने ये जानकारी दी है. शनिवार को नेपाल में 7.8 तीव्रता का भूकंप आया जिसका मूल केंद्र राजधानी काठमांडू और पोखरा शहर के बीच था. इस भूकंप से भारत, बांग्लादेश, तिब्बत और माउंट एवररेस्ट पर भी कई लोगों के मारे जाने की सूचना है.

नेपाल के भूकंप प्रभावित इलाकों में सरकार ने आपात स्थिति की घोषणा की है और कई देशों ने उसे मदद की पेशकश की है. भूकंप के मूलकेंद्र वाले इलाके से बहुत ही कम जानकारी अभी मिल पाई है, जहां सबसे ज़्यादा नुक़सान होने की ख़बर है. ऐसे में, मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है|

 

भूकंप का केंद्र काठमांडू से उत्तर पश्चिम में करीब 80 किलोमीटर दूर लामजुंग में था और बिहार, पश्चिम बंगाल और पूर्वी भारत के कई शहरों में भी इसका असर महसूस किया गया। चीन के साथ ही पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी भूकंप महसूस किया गया।

अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने कहा है कि भूकंप की तीव्रता 7.9 आंकी गई और इसके बाद 4.5 या इससे अधिक तीव्रता के कम से कम 16 झटके महसूस किए गए।

नेपाली गृह मंत्रालय के अधिकारी लक्ष्मी प्रसाद ढकल ने बताया कि भूकंप से 875 लोगों की मौत हो गई और हजारों लोग घायल हुए हैं। ढकल ने कहा कि पांचवीं सदी के सुप्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर को नुकसान के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इससे पहले नेपाली अधिकारियों ने कहा था कि मरने वालों संख्या 500 से 600 के बीच है। राहत एवं बचाव अभियान के बाद जानमाल के नुकसान की सही तस्वीर सामने आ सकेगी।

काठमांडू में भूकंप के कारण भारी नुकसान हुआ है। यहां कई और भवनों इमारतें गिरने के कारण कई सड़कें धंस गई और कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। भूकंप के कारण काठमांडू एयरपोर्ट बंद कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि काठमांडू में मोबाइल सर्विस पर भी भूकंप का बुरा असर पड़ा है। 

भूकंप के कारण भारतीय वाणिज्य दूतावास परिसर स्थित एक इमारत के ढह जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। पत्रकारों के मुताबिक, मृत व्यक्ति नेपाली नागरिक है। नेपाल के शाही भवन के चारों ओर की दीवारें और कई इमारतें ढह गई हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुराने काठमांडू के हनमनढोका इलाके में भारी तबाही हुई है। काठमांडू में नौ मंजिली इमारत ढह गई है। रिपोर्टों के अनुसार, लामजुंग और इसके आसपास टेलीफोन सेवा ठप हो गई है। यह इलाका भूकंप के केंद्र के नजदीक है।