जानिए सहवाग ने भारत को ASIA CUP में न खेलने को क्यों कहा....

जानिए सहवाग ने भारत को ASIA CUP में न खेलने को क्यों कहा....

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने आगामी एशिया कप के कार्यक्रम की रूपरेखा पर सवाल उठाए हैं। दरअसल आईसीस की ओर से जारी किए गए शेड्यूल के मुताबिक भारत को लगातार दो मैच खेलने हैं, जिस पर वीरेंद्र सहवाग ने गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि भारत को इस टूर्नामेंट में ही नहीं खेलना चाहिए। खिलाड़ियों को एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद अगले मैच से पूर्व कम से कम एक दिन के आराम की जरूरत होती है, जबकि एशिया कप में इंडियन टीम को लगातार दो दिन मैच खेलने होंगे। मैं इस बात से बहुत हैरान हूं कि यह कैसा कार्यक्रम तैयार किया गया है, कौन सा देश है जो दो दिन में दो अंतरराष्ट्रीय मैच खेलता है।' एशिया कप में टीम इंडिया को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ 19 सितंबर को मैच खेलना है, जबकि इससे एक दिन पहले उसे क्वालिफायर टीम के साथ टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरूआत करनी है।

वीरू ने कहा, 'इंग्लैंड में हाल ही में समाप्त हुए टी-20 सीरीज में भी हर मैच के बीच दो दिन का अंतर था। एशिया कप में तो 50 ओवर प्रारूप में खेलना है। दुबई में मौसम बहुत गर्म होता है, ऐसे में खिलाड़ियों को आराम मिलना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि इस टूर्नामेंट के लिए जारी किया गया शेड्यूल कहीं से भी ठीक है। मुझे नहीं समझ आता कि एशिया कप में खेलने को लेकर इतना हल्ला क्यों है। भारत को एशिया कप खेलना ही नहीं चाहिए। मुझे लगता है कि घरेलू सीरीज के लिए तैयारी पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि एक के बाद एक मैच खेलना आसान नहीं होता।' हालांकि भारत का अब इस टूर्नामेंट से हटना मुश्किल है, क्योंकि वह एशिया कप में खेलने की पुष्टि कर चुका है।

इस टूर्नामेंट की अन्य टीमें पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अलावा एसोसिएट्स देशों की टीमें भी खेलेंगी। इन टीमों का निर्धारण मेजबान यूएई, सिंगापुर, ओमान, नेपाल, मलेशिया और हांगकांग के बीच होने वाले क्वालिफायर मैचों से होगा। सहवाग ने कहा कि भारत के लिए जहां दो दिन में दो मैच खेलना मुश्किल होगा तो वहीं पाकिस्तान को इससे फायदा होगा, जिसके साथ उसे अगले दिन खेलना है। उन्होंने कहा, 'भारत के खिलाड़ी जहां लगातार खेलकर थके होंगे तो वहीं पाकिस्तान के खिलाड़ियों को इससे फायदा होगा और वह अधिक उर्जा के साथ उतरेंगे।' इस बीच बीसीसीआई के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने भी एशिया कप में भारत के शेड्यूल को लेकर सवाल उठाए हैं और इसे बकवास बताया है।