देश से बोले नवाज़, मैं डरकर सियासत नहीं करता

देश से बोले नवाज़, मैं डरकर सियासत नहीं करता

इस्लामाबाद। पड़ोसी मुल्क में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। पाकिस्तान में तख्तापलट की आशंकाओं और पनामा लीक्स में नाम आने के बीच मुल्क के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने राष्ट्र के नाम संदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने कहा कि पनामा लीक्स के बहाने पाकिस्तान को अस्थिर करने की साजिश रची जा रही है। डर-सहमे शरीफ ने मुल्क से कहा कि मैं डर कर सियासत नहीं करता।

राष्ट्र के नाम संदेश जारी करते वक्त नवाज की बॉडी लैंग्वेज बेहद थकी हुई सी लग रही थी। उनके चेहरे पर तनाव साफ दिख रहा था। उनके हाव-भाव भी बिल्कुल बदले से थे। हालांकि नवाज पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। इसीलिए वे कुछ दिन पहले इलाज के लिए विदेश भी गए थे। पनामा लीक्स पर नवाज शरीफ ने कहा कि अगर आरोप साबित हुए तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। पनामा लीक्स पर हमने खुद जांच कमेटी बनाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि लीक्स पर SC के जज से जांच कमेटी बनाने की मांग करूंगा।

इमरान खान और मुशर्रफ पर निशाना साधते हुए नवाज ने कहा कि मुझे दुख इस बात का है कि मुल्क का कीमती वक्त बर्बाद किया गया। इसका हिसाब आपको लेना है। ये लोग चाहते हैं कि मुल्क की समस्याएं समाप्त करने के बजाय झूठे आरोप में समय बर्बाद कर दें। हमने खुद जांच कमीशन बनाने का फैसला लिया। लेकिन कमीशन की राह में रोड़े अटकाए जा रहे हैं।

नवाज ने कहा कि मैं खुदा के अलावा किसी से नहीं डरता। मुझे पाकिस्तान के लोगों ने चुना है। मैं अल्लाह के बाद अवाम के प्रति जवाबदेह हूं। हमारा खानदान एक-एक पैसे का हिसाब देता रहा है। हम भी हिसाब देंगे, लेकिन धरने के दौरान मुल्क को जो खरबों का नुकसान हुआ उसका हिसाब कौन देगा। नवाज शरीफ ने कहा कि जो लोग हिसाब मांगने निकले हैं, पहले उनका हिसाब ले लिया जाए। 72 जजों को घर में नजरबंद करने का हिसाब, मुझ पर हाइजैकिंग का झूठा केस बनाने का हिसाब। क्या इनका हिसाब मांगा नहीं जाना चाहिए। हमारी सरकार भष्ट्राचार के खात्मे में विश्वास रखती है।