उत्तर भारत की शैक्षिक स्थिति बदतर है: तैयब बेग

उत्तर भारत की शैक्षिक स्थिति बदतर है: तैयब बेग

SIO लगाएगी शिक्षा पंचायत, निकालेगी रैली 

लखनऊ: इस बात मे किसी भी व्यक्ति को कोई संदेह या मतभेद नहीं होगा कि रोटी, कपड़ा, स्वास्थ्य और मकान के बाद इंसान की जो सबसे बुनियादी जरूरत है वह शिक्षा है।  शिक्षा के बिना न तो कोई व्यक्ति या समाज तरक्की कर सकता है और न ही किसी देश के विकास के स्वप्न देखे जा सकते हैं।  किसी भी देश की उन्नति या विकास तब तक सम्भव नहीं है जब तक उस देश के हर एक नागरिक की शिक्षा को सुनिश्चित न कर लिया जाए।

उन्होंने कहा कि इस समय उत्तर भारत विशेष कर उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में शिक्षा की जो स्थिति है वह बेहद निचले स्तर तक पहुंच चुकी है। SIO के अनुसार उत्तर भारत के तीन प्रमुख राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड शैक्षिक विकास में सबसे नीचे आते हैं।

उत्तर भारत में शैक्षिक संस्थानों की कमी को पूरा करने, उसमें पाई जाने वाली अव्यवस्था में सुधार लाने, इन राज्यों में आने वाली सरकारों को शिक्षा की ओर विशेष ध्यान दिलाने, जनता को शिक्षा की प्राप्ति के लिए जागरूक करने सहित अन्य शैक्षिक मुद्दों को लेकर स्टूडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाइजे़शन आफ इंडिया 23 अप्रैल को रिफाह-ए-आम क्लब से शहीद स्मारक तक एक रैली निकालकर शिक्षा पंचायत लगाएगी। जिसमें शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े लोग और विद्वान अपनी बात रखेंगे। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India