गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं होना चाहिए: इक़बाल महमूद

गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं होना चाहिए: इक़बाल महमूद

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन मंत्री ने सौंपा 198 प्रशिक्षार्थियों को नियुक्ति पत्र

लखनऊ: प्रदेश में खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की कमी को पूरा करने के लिए आयोग द्वारा चयनित 198 प्रशिक्षार्थियों को आज यहां  दीनदयाल उपाध्याय राज्य ग्राम्य विकास संस्थान (एस0आई0आर0डी0), बख्शी का तालाब में 60 दिनों के प्रशिक्षण के उपरान्त नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। विदित हो कि गत 23 नवम्बर, 2015 से 21 जनवरी,2016 तक प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके 197 प्रशिक्षार्थियों को भी संस्थान ने प्रशिक्षित किया था, जो कि आज विभिन्न जिलों में कार्य कर रहे हैं। 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन मंत्री, इकबाल महमूद ने कहा कि किसी भी देश-प्रदेश की जम्हूरियत तभी कामयाब होती है, जब वहां के अवाम खुश हांे। उन्होंने कहा कि बच्चे के पैदा होने से लेकर बुढ़ापे तक उनकी सेवा करना इस विभाग से प्रमुख दायित्व है।

मंत्री ने कहा कि पहले यह विभाग स्वास्थ्य विभाग में शामिल था। इस विभाग की महत्ता एवं उपयोगिता को समझते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने इसे स्वतंत्र विभाग का मूर्तरूप प्रदान किया तथा इसके संचालन की जिम्मेदारी मुझे सौंपी। उन्होंने कहा कि होली, दीपावली और ईद के दौरान खाद्य पदार्थो में बहुत मिलावट की जाती है, उस दौरान तो सभी की निगाह उन पर होती है लेकिन आप नियमित रूप से जांच और सैम्पलिंग करें। यह मानव जीवन से जुड़ा विषय है इसलिए इस कार्य को गम्भीरता से लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि चाहे कैसा भी दबाव हो गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। 

कार्यक्रम में उपस्थित प्रमुख सचिव हेमन्त राव ने नवनियुक्त खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश में हर वर्ष 10 लाख से अधिक लोगों को रोजगार/नौकरी की आवश्यकता होती हैं, जिसमें से आप आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में सफल होकर आएंे हैं इसलिए आप सर्वोत्तम और सर्वश्रेष्ठ हैं। उन्होेंने खाद्य सुरक्षा अधिकारियों से कहा कि इस प्रशिक्षण में खाद्य सुरक्षा अधिनियम का जो ज्ञान प्राप्त किया है, उसका प्रयोग देश, प्रदेश और समाज के लिए तन-मन-धन से करेंगे। हर व्यक्ति चाहता है कि वह जो भी खाए और पिऐ वह पूरी तरह से सुरक्षित हो। इसकी जिम्मेदारी आप पर है। यह सिर्फ कार्य नहीं है बल्कि आप पर एक सामाजिक जिम्मेदारी है। 

संस्थान के महानिदेशक डाॅ. एन0एस0 रवि ने नवनियुक्त खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि आज से आप भी सिस्टम का हिस्सा हो गए हैं। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा विभाग है, जो कि मनुष्य की आधारभूत जरूरत से जुड़ा हुआ है। इस पर हमारा शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य निर्भर करता है। इस बात से इसके महत्व का अनुमान लगाया जा सकता है। पहले यह विभाग बहुत उपेक्षित हुआ करता था लेकिन वर्तमान सरकार ने इसका महत्व समझकर इतनी बड़ी संख्या मेें अधिकारियों की नियुक्ति कराई। उन्होंने कहा कि जब तक खाने की चीजों का रख रखाव और साफ-सफाई के प्रति आम जन मानस में जागरूकता नहीं आती तब तक सारे प्रयास व्यर्थ हैं। हमारी सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि विकास कार्यों में प्रजातन्त्रिक ढांचे का कितना सहयोग है। कानून का पालन स्वप्रेरणा से होना चाहिए न कि डरा धमका कर नियत्रंण रखना चाहिए। आम आदमी को जागरूक करना ही कामयाबी का पैमाना होगा।  

Lucknow, Uttar Pradesh, India