भूस्खलन से गिलगित-बाल्टिस्तान में 100 से अधिक की मौत

भूस्खलन से गिलगित-बाल्टिस्तान में 100 से अधिक की मौत

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में 100 से अधिक लोगों की जान लेने वाली भारी बारिश से जगह-जगह भूस्खलन की घटनाओं के चलते पाक अधिकृत कश्मीर स्थित गिलगित-बाल्टिस्तान का संपर्क शेष देश से कट गया है।

सप्ताहांत शुरू हुई भारी बारिश खबर पख्तूनख्वा तथा पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में अब भी कहर बरपाए हुए है। इससे जगह-जगह भूस्खलन के चलते पाकिस्तान का चीन के साथ जमीनी संपर्क अवरूद्ध हो रहा है। खुंजेराब दर्रा के जरिए शिंजियांग स्थित काशगर को गिलगित और बाल्टिस्तान से जोड़ने वाला रणनीतिक कारकोरम मार्ग गोजाल से लेकर बेशाम तक 50 से अधिक स्थानों पर नष्ट हो चुका है। इससे सैकड़ों लोग और 50 से अधिक विदेशी पर्यटक फंस गए हैं।

स्कार्दू, आस्तोर और गिजेर जाने वाली सड़कें भी अवरूद्ध हो गई हैं जिससे खाद्य वस्तुओं और ईंधन की कमी हो गई है। गिलगित-बाल्टिस्तान में अब तक 70 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है तथा पड़ोस के खबर पख्तूनख्वा प्रांत में 30 से अधिक लोग मारे गए हैं। 48 घंटे से अधिक समय तक चली बारिश से पन-बिजली परियोजनाएं नष्ट हो गई हैं जिनसे गिलगित नगर और अन्यत्र बिजली की आपूर्ति होती है।

सेना के फ्रंटियर वर्क्‍स ऑर्गेनाइजेशन (एफडब्ल्यूओ) के कर्नल अमजद वली के अनुसार, कारकोरम राजमार्ग पर एक मुख्य पुल भी नष्ट हो गया है और इसे आवगमन के लिए दुरूस्त करने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोहिस्तान में करीब 200 मीटर सड़क पूरी तरह बह गई है और मलबे के नीचे 20 से अधिक लोग अब भी फंसे हैं। कोहिस्तान के कांदिया क्षेत्र में एक मकान पर एक विशाल शिलाखंड गिरने से 13 महिलाओं सहित 25 लोग मारे गए हैं। सैकड़ों मकान बह गए हैं तथा अधिकांश क्षेत्र में संचार ठप हो गया है।