पनामा पेपर्स: जेटली के करीबी का नाम आने पर कांग्रेस ने उठाये सवाल

पनामा पेपर्स: जेटली के करीबी का नाम आने पर कांग्रेस ने उठाये सवाल

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली के करीबी लोकेश शर्मा का नाम पनामा पेपर्स में आने पर तमाम सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा कि इस मामले की वित्तमंत्रालय जांच करने की बात कह रहा है, लेकिन वित्तमंत्री जेटली के रहते जांच प्रभावित हो सकती है।

कांग्रेस का आरोप है कि लोकेश शर्मा ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी मीडिया कंपनी चलाते हैं। 14 फरवरी 2000 को जब अरुण जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष तब डीडीसीए से की एक मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में डीडीसीए उपाध्यक्ष चेतन चौहान को इस बात के लिए अधिकृत किया कि वे डीडीसीए की ओर से इस्टामीडिया के साथ डीडीसीए का करार करें।

कांग्रेस ने कहा कि इस मामले में वित्तमंत्री जेटली ने जांच कराने की बात कही है, लेकिन क्या यह उनके लिए उचित होगा कि उनका मंत्रालय इस मामले को देखे। कांग्रेस ने कहा कि हमारा वित्त मंत्रालय को बिल्कुल भरोसा नहीं है और हम चाहते हैं सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इस मामले में न्यायिक जांच की जाए।

कांग्रेस ने पनामा पेपर में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह का नाम आने के बाद उन पर भी सवाल उठाए हैं।