सैफई के विकास कार्यों का सीएम ने किया निरीक्षण

सैफई के विकास कार्यों का सीएम ने किया निरीक्षण

सैफई: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि राज्य की समाजवादी सरकार ने सभी वर्गाें के विकास और उत्थान के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं, जिनकी नकल दूसरे प्रदेश की सरकारें भी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की तरक्की के लिए कई ऐतिहासिक कार्य किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने घोषणा-पत्र में किए गए सभी वादों को पूरा करने की दिशा में तेजी से कार्य किया है।

मुख्यमंत्री आज इटावा और सैफई में कराए जा रहे विकास कार्याें के स्थलीय निरीक्षण के दौरान अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। स्थलीय निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री लायन सफारी पहुंचे और उन्होंने वहां पर निर्माण कार्याें का निरीक्षण किया। उन्होंने कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि ईमानदारी और पूरी पारदर्शिता के साथ कर्तव्य निर्वहन करते हुए लायन सफारी के कार्य को इस साल माह अक्टूबर, नवम्बर तक पूर्ण कर जनता के लिए खोलना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वन्य जीवों की सुरक्षा और स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाए, जिससे लायन सफारी के उद्देश्य की पूर्ति हो सके।

इसी क्रम में श्री यादव ने इटावा के ज्योतिबाराव फुले स्टेडियम परिसर में हाॅकी खेल के लिए निर्मित एस्ट्रोटर्फ मैदान का जायज़ा लिया और कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि नवनिर्मित स्टेडियम को शीघ्र ही खेल विभाग को हस्तांतरित करना सुनिश्चित करें। उन्होंने मुख्य मार्ग से स्टेडियम के द्वार तक वृक्षारोपण कराए जाने तथा वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि तालाब पर धोबी घाट को पक्का बनवाया जाए।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने ग्राम महोला के निवासी एवं प्रखर समाजवादी चिंतक स्व0 श्री अनोखे लाल आढ़तिया के आवास पहुंचकर उनके परिजनों से भेंट की तथा श्री आढ़तिया के कुछ समय पूर्व हुए निधन पर शोक व्यक्त किया।

यहीं पर श्री यादव ने निर्माणाधीन जिला कारागार पहुंचकर निर्माणाधीन बैरकों आदि का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड के अधिकारियों से कार्य प्रगति की विस्तृत जानकारी ली। राजकीय निर्माण निगम के प्रभारी अभियन्ता ने बताया कि 51 एकड़ परिक्षेत्र में जेल निर्माण हेतु 45 करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हो चुकी है। 

इस जेल परिसर में एक प्रशासनिक भवन, 120 बन्दी क्षमता की 14 पुरुष बैरकें, 120 महिला बन्दियों हेतु 60 की क्षमता के 02 भवन, अल्पवयस्क हेतु 60 बन्दी क्षमता का 01 भवन, 01 क्वाॅरनटाइन बैरक, 01 हाई सिक्योरिटी बैरक, 20 सिंगल सीटेड कक्ष, 01 अत्याधुनिक किचन, 02 पाठशाला, 02 अस्पताल, 02 मुलाकात कक्ष व 01 आरमरी ब्लाॅक का निर्माण कराया जाएगा। इसके अतिरिक्त जेल में सीवरेज प्लान्ट, ग्रीन बेल्ट, वीडियो काॅन्फ्रेन्सिंग हाॅल व जैमर आदि की भी व्यवस्था होगी। माॅर्डन किचन में मशीनों द्वारा रोटियां बनाने की व्यवस्था होगी। 

मुख्यमंत्री ने प्रभारी अभियन्ता को निर्देशित किया कि बैरकों की छत की ऊचांई 12 फीट रखी जाए तथा रोटी बनाने हेतु उच्च क्षमता वाली मशीन लगाई जाए। जेल का निर्माण कार्य माह अक्टूबर तक पूर्ण कराया जाए। इसके अतिरिक्त उन्होंने मुख्य मार्ग से महोला गांव तक 10 मीटर चैड़ी सी0सी0 रोड बनाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

इसके बाद श्री यादव ने सैफई पहुंचकर उ0प्र0 ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान के निर्माणाधीन 500 बेड के सुपर स्पेशियलिटी ब्लाॅक का निरीक्षण किया। इस अवसर पर परियोजना प्रबन्धक द्वारा बताया गया कि इस ब्लाॅक में रेडियेशन आँकोलाॅजी, बी0एम0डब्लू0 एवं एम0जी0पी0एस0, कैफेटेरिया, इलैक्ट्रिक सब स्टेशन, वर्क शाॅप एवं स्टोर पम्प रूम, माॅर्चरी, किचेन एवं लाॅण्ड्री, एस0टी0पी0/ई0टी0पी0 आदि सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। 

निर्माण कार्य की प्रगति पर असन्तोष व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि इस कार्य के साथ-साथ फर्नीचर, बेड, ओ0टी0 आदि के समस्त कार्य गुणवत्ता एवं शीघ्रता से माह दिसम्बर, 2016 तक पूर्ण कराएं। 

मुख्यमंत्री ने इसके पूर्व सैफई स्थित ब्लाॅक संसाधन केन्द्र के अभिनव विद्यालय भवन के निर्माण की प्रगति व मानकों के अनुरूप पाए जाने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने ‘अपना बाजार’ परिसर में कराए जा रहे निर्माण कार्याें का भी सघन स्थलीय निरीक्षण किया। श्री यादव द्वारा कार्यदायी संस्थाओं को कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के साथ-साथ मानक व गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए गए।

Uttar Pradesh, India