क्रिकेट स्टार्स का नहीं हीरोज़ का खेल है

क्रिकेट स्टार्स का नहीं हीरोज़ का खेल है

ख़राब प्रदर्शन के लिए वक़ार ने देश से माफ़ी मांगी 

लाहौर: पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच वकार यूनुस ने विश्व टी 20 में टीम के खराब प्रदर्शन पर पाकिस्तान के लोगों से हाथ जोड़कर माफी मांगी है और कहा है कि क्रिकेट सितारों का नहीं नायकों का खेल है, इस हार के बाद वास्तव में सबको उड़ा दीं लेकिन सिस्टम दुरुस्त किए बिना कुछ भी ठीक नहीं होगा।

हार की वजह जाने के लिए बनाई गयी समिति के समक्ष पेश होने के लिए पीसीबी कार्यालय पर मीडिया से बातचीत करते हुए वकार यूनुस ने हाथ जोड़कर लोगों से माफी मांगी और कहा कि वह देश माफी मांगते हैं, और अगर मेरे जाने से समस्या का हल होता है तो मैं जाने को तैयार हूँ। उन्होंने कहा कि टीम की हार पर मुझे भी तकलीफ हुई है इसलिए लोगों से माफी मांगी है। वक़ार ने कहा सिस्टम को दुरुस्त करना चाहिए क्योंकि कॉस्मेटिक सर्जरी से कुछ नहीं होगा, किसी को राहत देने से कोई अंतर नहीं होगा और अब आँखें खोलनी होंगी और क्रिकेट से राजनीति को निकालना होगा। 

उन्होंने कहा कि बातें छिपाने का समय समाप्त हो गया, अब सब सामने आना चाहिए इसलिए टीम में जो भी समस्या दिखाई दी है वो बोर्ड समिति के समक्ष रखूंगा। किसी एक पर आरोप लगाना गलत बात होगी लेकिन अगर मुझे हटाने से समस्या हल होती है तो मैं जाने को तैयार हूँ। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड उनका घर है और वह इस घर की समस्याओं को मिलकर हल करेंगे। एक सवाल के जवाब में वक़ार यूनुस ने कहा कि क्रिकेट सितारों का नहीं नायकों का खेल है, हमें यह देखना होगा कि कौन स्टार है और कौन हीरो। वक़ार यूनुस ने अपनी रिपोर्ट से संबंधित बातचीत से परहेज किया और कहा कि यह उनके घर मामला है इसलिए इससे संबंधित कोई बात नहीं करूंगा। एक सवाल के जवाब में उनका कहना था कि जब घर में क्रिकेट न हो तो नींव कमजोर होती हैं