डोपिंग में निलंबन को चुनौती देंगी तैराक यूलिया

डोपिंग में निलंबन को चुनौती देंगी तैराक यूलिया

मास्को: चार बार की विश्व विजेता और रूस की दिग्गज तैराक युलिया येफिमोवा ने सोमवार को कहा कि वह संदिग्ध डोपिंग मामले में अस्थायी रूप से निलंबित किए जाने के फैसले को चुनौती देंगी।

'रोसिया' टेलीविजन चैनल द्वारा युलिया के उनके प्रशंसकों के लिए जारी किए गए वीडियो संदेश में कहा गया, "वर्तमान में हम मेरे केस की सुनवाई की तैयारी कर रहे हैं। हम यह साबित करना चाहते हैं कि मैंने किसी भी डोपिंग रोधी नियम का उल्लंघन नहीं किया है।"

पिछले सप्ताह अखिल रूसी तैराकी संघ (एआरएसएफ) ने घोषणा करते हुए बताया था कि अंतरराष्ट्रीय तैराकी संघ (फिना) ने महिला तैराक को संदिग्ध डोपिंग के लिए प्रतियोगिताओं से अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है। उनका का 'मेल्डोनियम' टेस्ट पॉजिटिव आया था।

'मेल्डोनियम' को विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) द्वारा इस वर्ष निषिद्ध दवाओं की सूची में शामिल किया गया है।

युलिया ने कहा कि उन्हें इस संबंध में न तो रूस और न ही विदेशी संगठनों से किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिली है। हालांकि, एआरएसएफ के अध्यक्ष व्लादिमीर साल्निकोव ने उनके इस बयान का खंडन किया है।

व्लादिमीर ने कहा कि सभी एथलीटों को इस संबंध नें सूचना पहले से ही दे दी गई थी। संघ की आधिकारिक वेबसाइट पर इसे साझा भी किया गया था।

युलिया से पहले रूस के 10 एथलीटों को ड्रग टेस्ट के परिणामों में 'मेल्डोनियम' दवा के सेवन के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है, जिसमें दिग्गज टेनिस स्टार खिलाड़ी मारिया शारापोवा भी शामिल हैं।