सरकार के मिली भगत से राजधानी में बढ़ रहा  है अपराध: रिहाई मंच

सरकार के मिली भगत से राजधानी में बढ़ रहा है अपराध: रिहाई मंच

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में लगातार बढ़ रहे चोरी और हत्या के वारदात को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि यह सब अपराध सरकार के मिली भगत से हो रहे हैं। अगर ऐसा न होता तो अपराधी जरूर पकड़े जाते लेकिन इसके विपरीत किसी भी बड़े अपराध का दोषी पकड़ा नहीं जा रहा है बल्कि सरकार के कारिंदे निर्दोष लोगों को पकड़ कर बेवजह जेल की सलाखों के पीछे डाल देते हैं और उनके जीवन के कई साल बर्बाद कर देते हैं। इन बातों व्यक्त विचार आज पिछड़ा समाज महासभा मुख्यालय में आयोजित बैठक में रिहाई मंच के अध्यक्ष एडवोकेट मोहम्मद शोएब ने किया।

उन्होंने कहा कि इन बातों को देखकर संदेह होता है कि सभी अपराधों में सरकार का हाथ है। और सरकार के मंशा पर यहां के गरीब लोगों को परेशान किया जा रहा है। एडवोकेट मोहम्मद शोएब ने कहा कि राज्य की जनता महंगाई, हत्या, दंगा, फर्जी गिरफ्तारी और कई समस्याओं से परेशान  है और सपा  सुप्रीमो रंग महल में रंग रैलियां मनाने में व्यस्त हैं।

रिहाई मंच के नेता शबरोज़ मुहम्मदी  ने कहा कि यह सरकार जनता से जो वादे करके सत्ता में आई थी उनमें से एक भी सरकार ने अभी तक पूरा नहीं किया। बल्कि इसके विपरीत पूरे राज्य में अपराध का नंगा नाच चल रहा है। सपा सरकार के गुर्गे कहीं पर भी गरीब जनता पर अत्याचार ढाते  हैं और पुलिस मूक दर्शक बनी दिखती है।

शबरोज़ मुहम्मदी ने  कहा कि राज्य के ला कानूनियत  को देखते हुए अब ऐसा लगने लगा है कि जैसे लोकतंत्र खत्म हो चूका है,पुलिस  जिसे चाहती है गिरफ्तार कर लेती है या जहाँ  चाहती है  वसूली करती है सरकार के कारिंदे राजनीतिक शक्ति के बल पर जहां जी चाहे मनमानी करते हुए नजर आते हैं। मिस्टर मोहम्मदी ने कहा कि अगर राज्य में गुण्डा गर्दी  को नहीं रोका गया तो 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां की जनता उन्हें जड़ से उखाड़ फेकेगी।

पिछड़ा समाज महासभा की अध्यक्ष एहसानुलहक मलिक ने कहा कि राज्य सरकार ने जनता के लिए सुरक्षा का वादा किया था लेकिन जब से यह सरकार सत्ता में आई है तब से अपराध बढ़ा है .सपा सरकार अपने चुनावी घोषणापत्र के बिल्कुल खिलाफ काम कर रही  है .जनता जवाब उन्हें आने वाले विधानसभा चुनाव में देगी।

पिछड़ा समाज महासभा के राष्ट्रीय महासचिव शिव नारायण कुशवाहा ने कहा कि राज्य सरकार से भी बदतर हाल केंद्र सरकार का है जो संविधान को  पीछे डाल  कर आरएसएस के संविधान पर  सरकार चलाना चाहती है। अगर इसी तरह रहा तो इस देश को बर्बाद होने से  कोई नहीं रोक पाएगा।

Lucknow, Uttar Pradesh, India