युवा निवेशकों के लिए कार्यशाला आयोजित

युवा निवेशकों के लिए कार्यशाला आयोजित

कंप्यूटर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट. लखनऊ एवं भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड,भारत सरकार द्वारा गणतंत्र दिवस के  अवसर पर युवा निवेशकों के लिए एक दिवसीय “ वित्तीय शिक्षण एवं जागरूकता कार्यक्रम ” विषय पर कार्यशाला का आयोजन रिजर्व पुलिस लाइन,यूनिवर्सिटी रोड,लखनऊ में किया गया ।

राष्ट्रगान के उपरान्त कार्यक्रम का शुभारम्भ  वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो,एभारत सरकार के स्वयंसेवक - ठा.श्रीश सिंह ने किया । युवा निवेशकों को संबोधित करते हुए ठा.श्रीश सिंह ने कहा की वित्तीय योजना बनाना हर व्यक्ति के लिए अवश्यक होता है,फिर चाहे वह एक स्कूल जाने वाला बच्चा हो अथवा एक सेवानिवृत्त नागरिक । आप जितनी जल्दी अपने धन का प्रबंध करना प्रारंभ कर देते है उतना  अच्छा रहता है ।  भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के रिसोर्स पर्सन डॉ सुनीत कुमार सोनकर ने कार्यशाला में उपस्थित छात्र,छात्राओं और युवा निवेशकों को वित्तीय शिक्षण एवं बोर्ड के बारे में विस्तार से बताया । सेबी की स्थापना मुख्य तौर पर शेयर बाजार में  निवेशको की रक्षा के लिए की गई थी । उन्होंने वित्तीय योजना , जोखिम बनाम मुनाफा , निवेश पर महगाई का प्रभाव ,बचत बनाम निवेश , निवेश की कार्यनीति, धन हानि से कैसे बचे ,निवेश की शुरूआत कैसे करे विस्तार से बताया । 

केंद्र प्रबंधक रोहित रस्तोगी ने कहा की वित्तीय  शिक्षा की जरुरत यू तो सभी क्षेत्रों में है,लेकिन दो क्षेत्रों में यह प्रमुख है पहला- व्यक्तिगत वित्त में गिरावट आज कल युवा वर्ग अपनी जरूरतों और शौक पर ज्यादा से ज्यादा खर्च करता है और चादर से बाहर पैरे फैलाने की कोशिश करता है,दूसरा बाजार में इन दिनों कई तरह की नई और जटिल वित्तीय योजनायें भी मौजूद है जिसे समझने की लिए ग्राहक को वित्तीय सूझ-बुझ रखनी ही पड़ेगी । युवा कल्याण के क्षेत्र में कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता रोहित कुमार कश्यप ने कहा की निवेशकों को निवेश की शुरुआत से लेकर उसके खत्म होने तक उस पर पूरी नजर रखनी चाहिए  हर एक व्यक्ति के निवेश की अवधि अलग अलग होती है । कार्यक्रम में ,शमीना रिजवी, रवि , मनोज आर्य ,पवन राजपूत ,रानी पाण्डेय ,रुपाली वैशनी ,सुशीला भारती, ने युवा निवेशकों को लाभकारी जानकारी दिया ।

Lucknow, Uttar Pradesh, India