डोनाल्ड ट्रंप की रैली में मुस्लिम महिला के साथ बदसलूकी

डोनाल्ड ट्रंप की रैली में मुस्लिम महिला के साथ बदसलूकी

वॉशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप की रैली में शांतिपूर्वक तरीके से रैली कर रही एक मुस्लिम महिला को पुलिस ने वहां से धक्के देकर बाहर निकाल दिया। घटना शुक्रवार की हे। हिजाब पहले 56 वर्षीय रोज हमीद ट्रंप के पीछे वाले स्टैंड में बैठी हुई थी और शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रही थी। रैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा कि सीरिया में गृहयुद्ध से बचने के लिए वहां से भागकर आए शरर्णार्थी आतंंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़े हुए हैं।

महिला ने पीले रंग का शर्ट पहन रखा था जिसपर लिखा था, सलाम मैं शांति के लिए आई हूं। शर्ट पर एक बैज भी लगा हुआ था जिसपर लिखा हुआ था मुस्लिम। अमरीका के एक प्रमुख समाचार चैनल सीएनएन से बातचीत करते हुए हमीद ने कहा, रैली में मुझे कोई खतरा महसूस नहीं हुआ। हमीद ने आगे कहा कि मैं वहां मौजूद लोगों से नहीं डरी क्योंकि पूरा विश्वास था कि सभ्य लोग बाहर निकाले जाते वक्त मेरे समर्थन में आगे आएंगे।

जब हमीद से पूछा गया कि क्या वहां मौजूद लोगों ने उन्हें बुरा भला कहा था तो उनका जवाब था कि एक व्यक्ति ने बार बार पूछा कि क्या मेरे पास बम है? मेरा जवाब था, नहीं। एक व्यक्ति ने कहा, भगवान महान है, मैंने भी जवाब में कहा, हां भगवान महान है। एक अन्य ने कहा, ईसा आपसे प्यार करता है तो मैंने भी कहा ईसा आपसे भी प्यार करता है।

रॉक हिल पुलिस विभाग के मेजर स्टीवन थॉमसन ने सीएनएन से कहा, हमीद को बाहर इसलिए निकाला गया क्योंकि चुनावी रैली शुरू होने से पहले हमें कहा गया था कि जो भी रैली में दिक्कतें खड़ी करे, उसे बाहर का रास्ता दिखा दिया जाए।

उल्लेखनीय है कि ट्रंप ने यह कहकर नए विवाद को जन्म दे दिया था कि अमरीका में मुसलमानों के प्रवेश पर अस्थाई तौर पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए। इसके बाद अमरीका सहित पूरी दुनिया में उनकी काफी आलोचना हुई थी।