मेक इन यूपी की सफलता में ही मेक इन इंडिया की कामयाबी है: मुख्यमंत्री

मेक इन यूपी की सफलता में ही मेक इन इंडिया की कामयाबी है: मुख्यमंत्री

आगरा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज ऐतिहासिक ताजनगरी आगरा के होटल आई0टी0सी0 मुगल में आयोजित ‘प्रथम उत्तर प्रदेश प्रवासी दिवस‘ समारोह का उद्घाटन करते हुये कहा कि मेक इन इंडिया तभी सफल हो पायेगा, जब मेक इन यू0पी0 सफल होगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश न केवल देश का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है, बल्कि भारत का सबसे बड़ा बाजार भी है। उन्होंने कहा कि समाज के हर वर्ग के लिए लगातार विकास समाजवादी सरकार का सिद्धान्त है। प्रवासी भारतीयोें का उत्तर प्रदेश में आने पर धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि उनके लिए उत्तर प्रदेश के द्वार सदैव खुले हंै, उन्होंने उम्मीदों के प्रदेश में उपलब्ध अवसरों का सफलतापूर्वक लाभ उठाने व उत्तर प्रदेश की प्रगति यात्रा में अपना योगदान करने का आह्वान किया। 

प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा विश्व स्तरीय अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया जा रहा है, इसके बगैर नये उद्योगों की स्थापना सम्भव नही है। राज्य सरकार प्रदेश में नये बिजली घरों की स्थापना के लिए भी कार्य कर रही है। बिजली उत्पादन बढ़ाने के सारे प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य सरकार पारम्परिक उद्योगों को भी प्रोत्साहित कर रही है। सरकार ने कन्नौज के पारम्परिक इत्र उद्योग को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुुंचाने के लिए इत्र कलस्टर बनाने की योजना बनाई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज उन्हें उपस्थित सभी प्रवासी भारतीयों का स्वागत करते हुए बहुत खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि आज से सैकड़ों वर्ष पूर्व ब्रिटिश हुकूमत के दौरान भारत से बड़ी संख्या में गिरमिटिया मजदूरों को सूरीनाम, फिजी, ट्रिनिडाड एण्ड टुबैगो, मारीशस इत्यादि देशों में ले जाया गया था, जिनमें उत्तर प्रदेश के भी बहुत लोग थे। राज्य सरकार ने यह आयोजन उन्हीं लोगों को पुनः अपनी जड़ों की ओर आकर्षित करने के लिए किया है। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से प्रवासियों को अपनी जड़ों से जुड़ने, अपनी माटी की सुगन्ध को पहचानने के साथ-साथ इस प्रदेश के विकास में अपना योगदान देने का भी मौका मिलेगा।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उन्होंने इस अवसर पर एक प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया तथा 16 प्रवासी भारतीयों को उनके द्वारा किए गये उल्लेखनीय कार्यों के लिए ’यू0पी0 रत्न’ पुरस्कार से नवाजा। 

Uttar Pradesh, India