स्पेशल बच्चों ने दिया हौसला न छोड़ने का सन्देश

स्पेशल बच्चों ने दिया हौसला न छोड़ने का सन्देश

लखनऊ। सामान्य जनों की निगाह में उपेक्षित लेकिन कई मामलों में हम इस दुनिया से आगे  है। अगर हमें चलने को जमीन और उड़ने को आसमान मिले तो हम वो करिश्मा  करके दिखा सकते है जिसकी कोई उम्मीद भी नहीं कर सकता है। यह संदेश  उन स्पेशल बच्चों ने दिया जो हौसला राज्यस्तरीय गेम्स में विभिन्न गेम्स में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाकर दर्शकों की जमकर वाहवाही लूटी। 

इनमें से कोई डाउन सिंड्रोम से पीडि़त था तो कोई आटिज्म सेे पीडि़त था तो कोई्र सेरिब्रल पालिसी से पीडि़त था लेकिन खेल के मैदान में जलवा बिखेरते इन बच्चों ने एक तरह से दुनिया को यह संदेश दिया कि हमे कमजोर न समझे। बल्कि लोगों को यह भी सीख दी कि जब हम इतना कुछ कर सकते है तो आप लोग क्यों जरा-जरा सी समस्याओं में हौसला छोड़ देते है। आपको तो उनका डटकर सामना करना चाहिए।

 सरस्वती एजुकेषनल फाउंडेषन के तत्वावधान में आयोजित इन गेम्स के समापन व पुरस्कार वितरण समारोह में इन लोगों का हौसला बढ़ाने के लिए मुख्य अतिथि एमएलसी डा.अषोक बाजपेयी व विषिष्ट अतिथि डा.षकंुतला मिश्रा राष्ट्रीय पुर्नवास विष्वविद्यालय के कुलपति डा.निषीथ राय, खेल निदेशक डा.आरपी सिंह, अर्जुन अवार्डी अंतर्राष्ट्रीय वाॅलीबाॅल खिलाड़ी रनवीर सिंह ने सभी खिलाडि़यों को पुरस्कृत किया। 

मुख्य अतिथि एमएलसी डा.अशोक  बाजपेयी ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश  सरकार ऐसे खिलाडि़यों की हौसला अफजाई तथा इन खेलों को मान्यता देने के लिए लगातार कार्य कर रही है। प्रदेश  के मुख्यमं़त्री अखिलेश  यादव भी इन स्पेशल खिलाडि़यों को बढ़ावा देते है। अभी हाल ही में लास एजेंल्स में हुए स्पेशल ओलंपिक गेम्स में पदक जीतने वाले प्रदेश  के खिलाडि़यों को उन्होंने नकद पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया था। 

वहीं विशिष्ट  अतिथि खेल निदेशक डा.आरपी सिंह ने कहा कि इन दो दिनों में जो हौसला आपने दिखाया वह काबिलेतारीफ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश  सरकार से स्पेशल खिलाडि़योें को और सुविधाएं दिलाने के लिए वह प्रयास करेंगे।

इस दौरान सुमधुर म्यूजिक के बीच इंडियन आइडल फेम कुलदीप सिंह चौहान ने अपने गानों तारे, जमीं पर, चक दे इंडिया, मस्त कलंदर तथा कई अन्य गानों की शानदार प्रस्तुति कर इन स्पेषल बच्चों को झूमने पर मजबूर कर दिया। इन बच्चों ने गानों के डांस स्टेप्स पर इतना बढि़या डांस किया कि अच्छे-अच्छे डांसर पीछे छूट जाए। 

इनका हुआ सम्मान

समापन व पुरस्कार वितरण समारोह के अवसर पर स्पेशल ओलंपिक तथा अन्य अंतरराष्ट्रीय  प्रतियोगिताओं में पदक जीतने वाले पल्लव मेहरोत्रा (साफ्टबाॅल), सतेंद्र यादव (हैंडबाॅल), अभियांष (टेबल टेनिस व साइकिलिंग), अपर्ण शुक्ला (पावरलिफ्टिंग) के साथ कोच एजाज सिद्दीकी, मार्शल  आर्ट कोच ज्ञान प्रकाश  त्रिपाठी तथा फिजियोथेरेपिस्ट डा.विवेक सिंह (खेल व विकलांगता के क्षेत्र में योगदान) को प्रशस्ति  पत्र व उपहार प्रदान करके सम्मानित किया गया। 

स्पर्धाओं के परिणामः-

बालिका 100 मी.रन (12-15 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में स्टडी हाल की अनु पहले, उम्मीद आशा  किरण की मोनिका दूसरे तथा आशा  आवा की अंशिका तीसरे स्थान पर रही। बालिका 100 मी.रन (16-21 आयु वर्ग) में आशा  आवा की नैंसी राय पहले, अश्मिता  की दीपावली दूसरे, अस्मिता की मैत्री तीसरे, बालिका 50 मी.वाक (8-11 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में आशा  आवा की विनीता पांडे पहले, चेतना की मानसी यादव दूसरे, अस्मिता की प्रतिभा यादव तीसरे, बालिका 100 मी.वाक (12-15 आयु वर्ग) के गु्रप ए में सीमा सेवा की शशि  पहले,निर्वाण की लाली दूसरे, सक्षम की गुनगुन तीसरे, बालिका 100 मी.वाक (16-21 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में निर्वाण की पूजा पहले, टच स्पेषल की बेज्मा दूसरे, उम्मीद आशा  किरण की निशा  कुमारी तीसरे स्थान पर रही। 

बालक वर्ग में 50 मी.वाक (8-11 आयु वर्ग) के गु्रप ए में स्टडी हाल के समर्थ, ग्रुप  बी में चेतना के नौमी लाल तथा गु्रप सी में चेतना के विकी सिंह पहले स्थान पर रहे। 

100 मी.रन (12-15 आयु वर्ग) के ग्रुप  बी में पाइसम के आर्यन पहले, गु्रप सी में बीएसएस के सम्यक जैन दूसरे, गु्रप डी में सीमा सेवा के विवेक तोमर पहले स्थान पर रहे। 

100 मी.रन (16-21 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में अस्मिता के रजत, गु्रप बी में चेतना के षिवा, गु्रप सी में सीमा सेवा सदन के अमन वर्मा, गु्रप डी में आशा  ज्योति के निशंक  मिश्रा तथा गु्रप ई में पूजा सेवा के अपर्ण शर्मा  पहले स्थान पर रहे।  

50 मी.वाक (8-11 आयु वर्ग) के गु्रप ए में आशा  आवा के मयंके, गु्रप बी में स्टडी हाल के रोहन श्रीवास्तव व गु्रप सी में बीएसएस के सम्यक जैन पहले स्थान पर रहे। 

100 मी.वाक (12-15 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में आशा आवा के देव तोमर व गु्रप डी में निर्वाण के मोनू पहले स्थान पर रहे। 

100 मी.वाक (16-21 आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में समर्पण के सुयांष मेहता पहले स्थान पर रहे। 

100 मी.वाक (22 वर्ष आयु वर्ग) के ग्रुप  ए में अस्मिता के रोहित पहले स्थान पर रहे। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India