बिहार में मुस्लिम CM चाहते है पासवान, पर भाजपा से डरते हैं

बिहार में मुस्लिम CM चाहते है पासवान, पर भाजपा से डरते हैं

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में पिछड़े वर्ग को लुभाने के लिए केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने शनिवार को कहा कि, बिहार के लिए वह एक मुस्लिम मुख्यमंत्री चाहते है, लेकिन गठबंधन के कारण चुप हैं। पासवान ने कहा, अपने दिल में मैं मुस्लिम सीएम चाहता हूं। लेकिन अब मैं भाजपा के साथ हूं और गठबंधन के कारण चुप हूं। मैं पिघला नहीं हूं। मैं बस गठबंधन के कारण नैतिकता से बंधा हुआ हूं। हर कोई अपने परिवार के सदस्यों का बढ़ावा करता है और मैं भी ऐसा ही करूंगा।

उन्होंने कहा, मैं सत्ता में रहने वाली पार्टी के साथ नहीं जुड़ता, लेकिन मैं जिस भी पार्टी के साथ जुड़ता हूं वो सत्ता में आ जाती है। लालू और नीतीश लोकसभा चुनाव में इसलिए हार गए क्योंकि मैं उनके साथ नहीं था। मुझे यकीन है कि भाजपा एलजेपी को उसके हिस्से की सीट देगी। वहीं जब पासवान से पूछा गया कि, नीतीश कुमार, लालू प्रसाद यादव और जीतन राम मांझी में बिहार का सबसे बेहतर मुख्यमंत्री कौन है, तो इस पर उन्होंने कोई भी बयान ना देते हुए चुप रहने का फैसला किया।

बिहार में भाजपा राम विलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी, उपेंद्र कुशवाहा के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और जीतन राम मांझी के अवाम मोर्चा के साथ गठबंधन में है। इसके अलावा भाजपा आरजेडी के बागी नेता पप्पू यादव के साथ भी संपर्क में है। पप्पू यादव ने अपनी खुद का जन अधिकार मंच लॉन्च कर लिया है।