बाबा अपराजित के पंजे पर भारी पड़ा बैनक्राफ्ट का शतक

बाबा अपराजित के पंजे पर भारी पड़ा बैनक्राफ्ट का शतक

भारत ए के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ए को बड़ी बढ़त

चेन्नई: कामचलाऊ ऑफ स्पिनर बाबा अपराजित ने अपने प्रथम श्रेणी करियर में पहली बार पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा दिखाया लेकिन इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया ए सलामी बल्लेबाज कैमरन बैनक्राफ्ट की शतकीय पारी की बदौलत भारत ए के खिलाफ दूसरे अनधिकृत टेस्ट मैच में आज यहां पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने में सफल रहा।

बैनक्राफ्ट ने एमए चिदंबरम स्टेडियम, चेपक पर 150 रन की जोरदार पारी खेली। उन्होंने इस बीच सलामी बल्लेबाज और कप्तान उस्मान ख्वाजा (33) के साथ पहले विकेट के लिये 111 रन और कैलम फर्गुसन (54) के साथ चौथे विकेट के लिए 107 रन की साझेदारी की। इससे ऑस्ट्रेलिया ने आज दूसरे दिन अपनी पहली पारी में नौ विकेट पर 329 रन बनाकर कुल 194 रन की बढ़त हासिल कर ली।

टेस्ट कप्तान विराट कोहली और सीनियर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा की मौजूदगी के बावजूद भारत ए कल 135 रन पर आउट हो गया था। अपराजित कल बल्लेबाजी में कमाल नहीं दिखा पाए लेकिन आज उन्होंने प्रज्ञान ओझा के साथ दूसरे स्पिनर की भूमिका अच्छी तरह से निभायी और 74 रन देकर पांच विकेट लिए हैं। ओझा ने 99 रन के एवज में तीन विकेट हासिल किये।

ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सुबह बिना किसी नुकसान के 43 रन से आगे खेलना शुरू किया और पहले घंटे में टीम को कोई झटका नहीं लगने दिया। ओझा ने ख्वाजा को पगबाधा करके यह साझेदारी तोड़ी। बाएं हाथ के इस स्पिनर ने इसके बाद जो बर्न्स (आठ) और पीटर हैंडसकाम्ब (0) को तीन गेंद के अंदर पवेलियन भेजकर भारत को वापसी दिलायी।

भारतीय गेंदबाज हालांकि दबाव बनाने में नाकाम रहे। फर्गुसन ने बैनक्राफ्ट का अच्छा साथ दिया और शतकीय साझेदारी निभायी। बाईस वर्षीय बैनक्राफ्ट ने प्रथम श्रेणी मैचों में अपना चौथा शतक पूरा किया। भारतीय कप्तान चेतेश्वर पुजारा ने ओझा के अलावा दो अन्य स्पिनरों अपराजित और श्रेयस गोपाल का उपयोग किया।

गोपाल ने फर्गुसन को आउट करके भारत को कुछ राहत दिलायी। इसके बाद अपराजित ने अपनी बलखाती गेंदों का कमाल दिखाया। उन्होंने मार्कस स्टोनिस (10) को स्टंप आउट करवाने के बाद मैथ्यू वेड (11) की गिल्लियां बिखेरी। अपराजित ने जल्द ही बैनक्राफ्ट की एकाग्रता भंग की और उन्हें कोहली के हाथों कैच कराया। दाएं हाथ के ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने 267 गेंद खेली और 16 चौके और एक छक्का लगाया।

इसके बाद स्टीव ओकैफी ने एक छोर संभाला जबकि गुरविंदर संधू ने 36 रन की तूफानी पारी खेली। उन्होंने अपराजित की गेंद पर स्टंप आउट होने से पहले 27 गेंद खेली तथा दो चौके और चार छक्के लगाये। अपराजित ने एस्टन एगर (6) के रूप में अपना पांचवां विकेट लिया। स्टंप उखड़ने के समय औकैफी छह रन पर खेल रहे थे। वह अब तक 43 गेंदों का सामना कर चुके हैं। एंड्रयू फेकेटे को अभी खाता खोलना है।