भंवरी देवी केस के चीफ करेंगे व्यापमं घोटाले की जांच

भंवरी देवी केस के चीफ करेंगे व्यापमं घोटाले की जांच

भोपाल: मध्‍य प्रदेश के व्‍यापमं घोटाले में सीबीआई आज से अपनी जांच शुरू करने जा रही है। एजेंसी ने इस बहुचर्चित घोटाले और संदिग्‍ध मौतों की जांच के लिए 40 लोगों की टीम बनाई है, जो भोपाल पहुंचकर इंवेस्टिगेशन का जिम्‍मा एसटीएफ़ से लेगी। मेघालय कैडर के आईपीएस अधिकारी आर पी अग्रवाल व्यापमं मामले की जांच के प्रमुख होंगे। इससे पहले अग्रवाल ने राजस्थान के चर्चित भंवरी देवी मामले की कमान भी संभाली थी।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी आज भोपाल पहुंचे हैं। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह राज्य में 'डैमेज कंट्रोल' की कवायद के लिए पहुंचे हैं, जहां शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में उनकी पार्टी की सरकार है। हालांकि बीजेपी ने कहा है कि अमित शाह का यह 'नियमित दौरा' है और वह पार्टी के सदस्यता अभियान की समीक्षा के बाद शाम को दिल्ली लौट आएंगे।

चौहान ने सुबह एयरपोर्ट पर अमित शाह का स्वागत किया। चौहान ने पिछले दिनों साफ किया था कि अमित शाह का दौरा व्यापमं मामले पर चर्चा करने के लिए नहीं हो रहा है। इस घोटाले ने शिवराज सिंह की सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

इस घोटाले में कई आरोपियों की मौत के बाद और कांग्रेस के द्वारा पर लगाए गए आरोपों के बाद  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई से जांच कराने की अपील की थी। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एचएल दत्तू ने 9 जुलाई को व्यापमं घोटाले से जुड़े सभी मामलों की जांच सीबीआई को सौंप दी थी और कहा था कि वह 24 जुलाई से पहले अपनी शुरुआती जांच रिपोर्ट सौंप दे।

इसके साथ ही कोर्ट ने मध्य प्रदेश के राज्यपाल रामनरेश यादव को पद से हटाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्यपाल, केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस देकर चार हफ्ते में जवाब मांगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच पर फैसला करने के बजाय पल्ला झाड़ (मामले से) लिया और गेंद हमारे पाले में डाल दी।

India