अब आइटम नंबर नहीं करना चाहतीं शमिता शेट्टी

अब आइटम नंबर नहीं करना चाहतीं शमिता शेट्टी

मुंबई : ‘मोहब्बतें’ और ‘जहर’ जैसी फिल्मों से पहचान बनाने वाली अभिनेत्री शमिता शेट्टी का कहना है कि वह अब फिल्मों में आइटम नंबर नहीं करना चाहतीं।

‘मेरे यार की शादी है’ (2001) में ‘शरारा शरारा’ और ‘साथिया’ (2002) में ‘चोरी पे चोरी’ जैसे गीतों पर थिरकने वाली अभिनेत्री ने कहा है कि उन्हें आइटम गर्ल के टैग से नफरत है।

शमिता ने बताया, ‘मैं आइटम गीतों को मना करते हुये थक गयी हूं। मैं एक आइटम नंबर के रूप में पहचान नहीं बनाना चाहती। संयोग से, हम कलाकारों पर आसानी से टैग लगा दिया जाता है। पूर्व में मेरे पास आइटम नंबर के कई प्रस्ताव आये थे।’ उन्होंने 2000 में यश राज फिल्म्स की हिट ‘मोहब्बतें’ फिल्म से अपने कैरियर का आगाज किया था। इस फिल्म का निर्देशन आदित्य चोपड़ा ने किया था।

शमिता ने बताया, ‘मैं एक कलाकार के तौर पर कुछ चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं करना चाहती हूं। अब लोग कई तरह की भूमिकाओं और विषयों के साथ प्रयोग कर रहे हैं। मैं इसके लिए तैयार हूं। मैं ऐसी फिल्म में काम नहीं करना चाहती हूं जिस में मैं सिर्फ शो पीस की तरह नजर आउं।’