प्रतिभा, संसाधनों की मोहताज नहीं होती: मुख्यमंत्री

प्रतिभा, संसाधनों की मोहताज नहीं होती: मुख्यमंत्री

अखिलेश ने आई0आई0टी0 की प्रवेश परीक्षा में रैंक लाने वाले छात्रों को लैपटाॅप व 01-01 लाख रु0 का चेक प्रदान किया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस वर्ष भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई0आई0टी0) की प्रवेश परीक्षा में अच्छी रैंक से उत्तीर्ण हुए जनपद प्रतापगढ़ के दो भाइयों राजू सरोज और बृजेश सरोज व मैनपुरी के अभिषेक कुमार कमलवंशी को सम्मान स्वरूप 01-01 लैपटाॅप व 01-01 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। 

इन प्रतिभावान छात्रों को आज यहां अपने सरकारी आवास पर सम्मानित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बृजेश व राजू के गांव रेहुआ लालगंज, प्रतापगढ़ को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना के तहत विकसित किया जाएगा तथा इनके परिवार को लोहिया ग्रामीण आवास उपलब्ध कराया जाएगा। इसी प्रकार अभिषेक कुमार कमलवंशी के पैतृक ग्राम गुलरियापुर, मैनपुरी को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास के रूप में विकसित किया जाएगा तथा इनके परिवार को भी लोहिया ग्रामीण आवास उपलब्ध कराया जाएगा।

श्री यादव ने प्रतिभाशाली छात्रों की तारीफ करते हुए कहा कि प्रतिभा संसाधनों की मोहताज नहीं होती है। इन छात्रों ने विपरीत परिस्थितियों में इस स्तरीय परीक्षा में शानदार रैंकिंग हासिल कर इस बात को सिद्ध किया है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार प्रतिभा, मेहनत और लगन का हमेशा से सम्मान करती आई है। उन्होंने इन छात्रों को भविष्य में भी राज्य सरकार की ओर से हर सम्भव मदद देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने छात्रों से कहा कि जिस प्रकार आपने ईमानदारी और मेहनत से पढ़ाई की, उसी प्रकार आगे भी जीवन में पूरी ईमानदारी के साथ कार्य करंे व गरीबों की मदद के लिए सदैव तैयार रहें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे में प्रतिभाशाली छात्रों को हर तरह की मदद और प्रोत्साहन दिया जाना आवश्यक है, ताकि वे आने वाले समय में और उपलब्धियां हासिल कर देश व दुनिया में प्रदेश का नाम रौशन करें तथा राज्य के विकास में सक्रिय भागीदारी निभाएं। 

श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार नौजवानों, छात्र-छात्राओं के उत्थान के लिए अनेक योजनाएं संचालित कर रही है। हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट की परीक्षा के मेधावी विद्यार्थियों को निःशुल्क लैपटाॅप दिया जा रहा है। मेधावी छात्राओं के लिए संशोधित कन्या विद्या धन योजना संचालित करने का फैसला लिया गया है। निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों तथा किसानों के बच्चों को आधुनिक तकनीक के क्षेत्र में साधन सम्पन्न परिवारों के बच्चों के बराबर लाने के लिए 15 लाख लैपटाॅप वितरित किए। इन लैपटाॅप ने डिजिटल डिवाइड को कम करने में उल्लेखनीय भूमिका निभाई है और लैपटाॅप के माध्यम से विद्यार्थी अपना भविष्य बेहतर बना रहे हैं। 

इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, सांसद डिम्पल यादव व प्रमोद तिवारी तथा प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India