मुख्यमंत्री के सन्देश का उपहास उदा रहे हैं खनन माफिया: पाठक

मुख्यमंत्री के सन्देश का उपहास उदा रहे हैं खनन माफिया: पाठक

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने अखिलेश सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए का कि आखिर ये कैसे हो रहा है कि राज्य में सक्रिय खनन माफिया नदी की धारा को रोक दे रहे है। पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि फतेहपुर में यमुना, सोनभ्रद में सोन और अब बेतवा में 15 अस्थाई पुलो का निर्माण करा खनन के कारोबार को अंजाम देते लोंगो द्वारा नदी की धारा को रोकने के समाचार है। 

इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा एक जनहित याचिका के सुनवाई के दौरान जालौन और उरई के जिलाधिकारियों को बेतवा नदी में बालू के खनन के लिए बनाये गये 15 अस्थाई पुलों को गिराये जाने के निर्णय का स्वागत करते हुए प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा आखिर जो काम प्रशासनिक अधिकारियों को करना चाहिए, उसके लिए यह नौबत क्यों आ पड़ रही है कि न्यायालय तक को आदेश देना पड़ रहा है। फतेहपुर में यमुना नदी की धारा रोक कर अवैध पुल बनाये जाने की घटना पर तो खुद मुख्यमंत्री की जानकारी में है। उस मामले पर निलम्बन तक की उन्होंने कार्यवाही की। किन्तु राज्य में सक्रिय खनन माफियाओं के बेखौफी का आलम ये है कि वे मुख्यमंत्री के संदेश का उपहास उढ़ाते हुए लगातार अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए नदी की धारा को मोड़ने में संकोच नहीं कर रहे है। 

उन्होंने कहा कि आखिर जालौन और उरई में कैसे यह 15 पुल बन गये, क्या कर रहे थे खनन अधिकारी और उनकों नियंत्रित करते जिलाधिकारी। आखिर नदी की धारा मोड़ खनन के कारोबार को अंजाम दे रहे लोगो ने एक दिन में यह सम्भव नहीं किया होगा कि 15 के 15 पुल बना दिये हो फिर ये पुल किसकी सहमति और किसके निर्देश में बने।         

Lucknow, Uttar Pradesh, India