प्यार और सूफीवाद की कमी से दुनिया में बढ़ रही है बेशर्मी: मौलाना शेर मोहम्मद

प्यार और सूफीवाद की कमी से दुनिया में बढ़ रही है बेशर्मी: मौलाना शेर मोहम्मद

मदरसा आलिया चिशतया में जश्ने ओवैस करनी का आयोजन

लखनऊ: मदरसा आलिया चिश्तिया अलमासबाग हरदोई रोड लखनऊ में जश्ने ओवैस करनी का शानदार आयोजन हुआ।

सभा को संबोधित करते हुए मौलाना शेर महमूद ने कहा कि प्यार और सूफीवाद की कमी की वजह से आज दुनिया में बेशर्मी और पाप खुलेआम हो रहे हैं। जरूरत इस बात की है कि हम बर्जुगाने दीन के बताए हुए मार्ग पर चलें। उन्होने हज़रत ओवैस करनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सय्यदना ओवैस करनी बेमिसाल आशिके रसूल थे। 

इस अवसर पर मौलाना जहीर अब्बास ने हज़रत ओवैस करनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हजरत ओवैस करनी की इससे बड़ी फजीलत और क्या हो सकती है कि आकाए दो जहाँ ने हज़रत उमर फ़ारूक़,  हज़रत अली को आदेश दिया कि मेरे बाद ओवैस करनी सेवा में उपस्थित होना और उनसे उम्मते मोहम्मदी की क्षमा की प्रार्थना करना ।

सभा के दौरान मदरसा की छात्रा शादमाँ मीनाई ने कहा कि इस्लाम नैतिकता से फैला है नफरत से नही, हमें रोग से नफरत करना है रोगी से नहीं। साईमा चिश्ती ने हज़रत ओवैस करनी के जीवन पर अंग्रेजी में तकरीर कर दर्शकों को आनन्दित किया। इस दौरान नअत ख्वां कारी हन्नान ने अपनी खूबसूरत आवाज में नजरानए अकीदत पेश किया।

इस अवसर पर मदरसा की छात्राओं शगुफ़्ता मीनाई, शबनम जहां, साजदा मीनाई भी नअतख्वानी की। मदरसे  के संचालक कारी निसार अहमद मीनाई ने मदरसा की रिपोर्ट पेश की। सभा में परवेज अहमद एडवोकेट, मलिक अब्दुस्सलाम, मलिक अब्दुल हई शम्सी आदि बतौर विशेष मौजूद थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India