बच्चे की जान बचाने के लिए सिख ने उतारी पगड़ी

बच्चे की जान बचाने के लिए सिख ने उतारी पगड़ी

मेलबर्न: एक 22 साल के सिख युवक ने शनिवार को मानवता के लिए सभी धार्मिक बंधनों को तोड़ दिया। एक दुर्घटना में घायल हुए बच्चे के शरीर से खून बहता देख उसकी मदद के लिए उसने अपनी पगड़ी खोल दी और अपनी दरियादिली का परिचय दिया।

एक मीडिया रिपोर्ट में आज बताया गया कि हरमन सिंह उस समय अपने घर पर मौजूद था जिस समय एक पांच साल के बच्चे को एक कार ने टक्कर मार दी। वह अपनी बड़ी बहन के साथ स्कूल जा रहा था। यह घटना हरमन के घर के पास ही हुई।

कार की टक्कर की आवाज सुनकर सिंह तुरंत मौके पर पहुंचे। सिंह ने कहा कि उन्होंने अपनी पगड़ी उतारने से पहले जरा भी नहीं सोचा क्योंकि बच्चे के सिर से बहुत खून बह रहा था।

न्यूजीलैंड हेराल्ड के हवाले से सिंह ने कहा, ‘‘मैंने पगड़ी के बारे में नहीं सोचा। मैं दुर्घटना के बारे में सोच रहा था और बस यही ख्याल मेरे मन में आया कि बच्चे के सिर पर कुछ बांधने की जरूरत है क्योंकि उसके सिर से बहुत खून बह रहा है। उसकी मदद करना मेरा कर्तव्य था।’’ घायल बच्चे को तुरंत नजदीक के अस्पताल पहुंचाया गया और उसकी हालत स्थिर है।