सेंसर बोर्ड पर सनी लियोनी लगाया पूर्वाग्रह का आरोप

सेंसर बोर्ड पर सनी लियोनी लगाया पूर्वाग्रह का आरोप

मुंबई। कम समय में ही बॉलीवुड में सफलता का स्वाद चखने बाली अदाकारा सनी लियोनी ने सेंसर बोर्ड पर उनकी फिल्मों को लेकर पूर्वाग्रह का आरोप लगाया है। ""कुछ कुछ लोचा है"" के प्रचार के लिये यहां पहुंची सनी ने कहा "" मेरी फिल्म होने के कारण इस फिल्म के साथ भेदभाव किया जा रहा है मैं यहां अपने अतीत को दोहराने नहीं आई हूं, यहां लोग मेरी फिल्मों को पसंद कर रहे हैं और सेंसर बोर्ड को मेरी अतीत की जगह मेरे वर्तमान को देखना चाहिए।""

उन्होंने बताया कि इस फिल्म में कोई एडल्ट कंटेंट नहीं है फिर भी इसे "ए" सर्टिफिकेट दिया गया है। यह फिल्म शुक्रवार को रिलीज हो रही है । फिल्म में सनी के को-स्टार और जाने माने अभिनेता राम कपूर ने कहा ""अगर इस फिल्म में एडल्ट कंटेंट होता तो मैं इसमें काम ही नहीं करता। यह पूरी तरह से कॉमेडी फिल्म है जिसे आप पूरे परिवार के साथ देख सकते है। सेंसर बोर्ड के फैसले से हमें काफी निराशा हुई है।""

उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड के इस तरह के फैसलों के खिलाफ फिल्म जगत को एक जुट हो कर काम कारना पड़ेगा। उन्होंने माना कि फिल्म के गाने ग्लैमरस है और थोड़े बहुत डबल मीनिंग डॉयलॉग भी हैं लेेेकिन उसे वल्गर तरीके से पेश नहीं किया गया है बल्कि कॉमिक अंदाज में कहा गया है। टीवी धारावाहिकों के साथ-साथ फिल्मों में अपनी अदाकारी का लोहा मनवाने वाले इस अभिनेता ने कहा कि "ए" सर्टिफिकेट मिलने से फिल्म का बिजनेस भी प्रभावित होगा, सिनेमाघरों में लोग कम आएंगे और इस फिल्म को टीवी पर भी नहीं दिखाया जा सकेगा।

गौरतलब है कि देवांग ढोलकिया के निर्देशन में बनी फिल्म ""कुछ कुछ लोचा है"" में सनी एक बॉलीवुड अभिनेत्री के किरदार में है जबकि राम कपूर एक गुजराती परिवार के मुखिया बने हैँ जिनकी जिंदगी में सनी के आने के बाद कई हास्यासपद बदलाव आते हैं।