इस्लाम हिंसा और आतंकवाद की मनाही करता है: इमाम काबा

इस्लाम हिंसा और आतंकवाद की मनाही करता है: इमाम काबा

लाहौर : इस्लाम धर्म के पवित्र स्थान काबा के इमाम शेख खालिद अल गामिदी ने कहा है कि इस्लाम हिंसा और आतंकवाद के खिलाफ है तथा केवल इसके शत्रु ही इसे हिंसक धर्म के तौर पर पेश करते हैं।

पाकिस्तान के दौरे पर आए शेख गामिदी ने जुमे की नमाज के मौके पर अपने कुतबे (धार्मिक संबोधन) में मुसलमानों का आह्वान किया कि वे जातीय विभाजन से दूर रहें।

उन्होंने कहा, ‘इस्लाम बहुत स्पष्ट और खुला धर्म है। अल्ला हमें हुक्म देता है कि एक दूसरे को माफ करें। मुसलमानों को दूसरे वर्गों और धर्मों का सम्मान करना चाहिए। इस्लाम धार्मिक भेदभाव और नफरत की मनाही करता है।’ वह यमन में सऊदी अरब नीत सैन्य अभियान में पाकिस्तान के शामिल होने के बारे में जनमत तैयार करने के रियाद के प्रयास के तहत यहां पहुंचे हैं।