मुख्यमंत्री ने किया ऊर्जा विभाग को टाइट

मुख्यमंत्री ने किया ऊर्जा विभाग को टाइट

अधिकारियों को दिए बिजली व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए प्रभावी कार्रवाई के निर्देश

इंस्टेंटखबर ब्यूरो 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बिजली व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए अधिकारियों को प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि गर्मी के मौसम को देखते हुए सभी विद्युत सब स्टेशनों, ट्रांसफाॅर्मरों तथा लाइनों की व्यवस्था हर हाल में चुस्त-दुरुस्त रखी जाए और फील्ड में तैनात अभियंतागण इस कार्य को प्राथमिकता पर सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री आज यहां शास्त्री भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में ऊर्जा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जनता की बिजली सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए गम्भीर है और इसके लिए विद्युत उत्पादन, पारेषण एवं वितरण तंत्र में बड़े पैमाने पर कार्य कराए जा रहे हैं। उन्होंने नवीन बिजली परियोजनाओं को तेजी से पूरा कराने और बिजली उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।

श्री यादव ने प्रमुख सचिव ऊर्जा को निर्देशित किया कि अनपरा-डी तापीय परियोजना की 500 मेगावाट क्षमता की दूसरी यूनिट हर हाल में जुलाई, 2015 में चालू कर दी जाए। उन्होंने विद्युत ट्रांसमिशन के कार्यों में खास तौर पर तेजी लाए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य को समयबद्ध ढंग से पूरा किया जाए, जिससे वर्ष 2016 तक नवीन बिजली परियोजनाओं से उत्पादित होने वाली बिजली की सुचारु आपूर्ति जनता को की जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण इलाकों की विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए विशेष ध्यान दे रही है। इसके तहत तहसीलों में बेहतर विद्युत आपूर्ति के लिए बिजली सबस्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने ग्रामीण विद्युतीकरण के कार्यों में तेजी लाने और किसानों के हित में निजी नलकूपों का विद्युतीकरण तत्काल सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कृषि फीडर को अलग करने की योजना पर कार्य कर रही है, ताकि कृषि कार्यों एवं ग्रामीण इलाकों के लिए बेहतर विद्युत आपूर्ति की जा सके। इसके क्रियान्वयन के सम्बन्ध में दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत भारत सरकार से आर्थिक मदद हासिल करने के लिए तत्काल पैकेज की मांग की जाए।

मुख्यमंत्री ने ऊर्जा संरक्षण एवं सौर ऊर्जा जैसे वैकल्पिक स्रोतों से बिजली उत्पादन बढ़ाए जाने पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि बिजली की बचत के लिए सभी विद्युत वितरण कम्पनियां अन्य उपायों के साथ-साथ एल0ई0डी0 के वितरण में तेजी लाए। इसके अलावा सोलर रूफटाॅप पाॅलिसी का भी प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए ताकि इनसे पैदा होने वाली बिजली का लाभ स्थानीय तौर पर जनता को मिल सके।

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश की ऊर्जा आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए सभी उपाय किए जाने जरूरी हैं। इसके मद्देनजर उन्होंने एक अतिरिक्त अल्ट्रा मेगा पावर प्लाण्ट प्रोजेक्ट के लिए भारत सरकार को शीघ्र प्रस्ताव प्रेषित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने लाँग टर्म बिजली की खरीद को टाई-अप किए जाने तथा पावर सरप्लस राज्यों से स्टेट-टू-स्टेट बिजली क्रय के लिए अग्रिम कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने यू0पी0 पावर काॅर्पोरेशन, विद्युत उत्पादन निगम तथा ट्रांसमिशन कम्पनियों में रिक्त पदों को जरूरत के मुताबिक भरने के भी निर्देश दिए।

बैठक में ऊर्जा राज्य मंत्री  यासर शाह, प्रमुख सचिव ऊर्जा  संजय अग्रवाल, विद्युत उत्पादन निगम एवं विद्युत पारेषण निगम के प्रबन्ध निदेशक संजय प्रसाद, पावर काॅर्पोरेशन के प्रबन्ध निदेशक ए0पी0 मिश्रा तथा पांच विद्युत वितरण कम्पनियों के एम0डी0 भी मौजूद थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India