राहुल का भाषण 'शैतान के उपदेश' जैसा: वेंकैया नायडू

राहुल का भाषण 'शैतान के उपदेश' जैसा: वेंकैया नायडू

नई दिल्ली। भूमि अधिग्रहण के मुद्दे पर लोकसभा में केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लेने वाले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर मंगलवार को मोदी सरकार के मंत्रियों ने पलटवार किए। केन्द्रीय संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने राहुल गांधी के भाषण को "शैतान का उपदेश" की संज्ञा देते हुए कांग्रेस शासन में आए अध्यादेशों की याद दिलाई। भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए नायडू ने कहाकि, कांग्रेस ने अपने 50 साल के शासन में 456 अध्यादेश जारी हुए। इनमें से 77 पीएम नेहरू और 77 पीएम इंदिरा गांधी के शासनकाल में जारी हुए। कांग्रेस ऐसे बयान दे रही है जैसे शैतान प्रवचन दे रहा हो।

उन्होंने आगे कहाकि, 10 बार बोलने से झूठ सच नहीं हो जाता। कांग्रेस खुद भी कई अध्यादेश लाती रही है। राजीव गांधी के समय 35, नरसिम्हा राव के कार्यकल में 77 और वामपंथियों के साथ बनी सरकार में भी 77 अध्यादेश आए थे। आरोप लगाने से पहले कांग्रेस को चाहिए कि वह होमवर्क कर ले। केन्द्रीय मंत्री ने भूमि अधिग्रहण बिल को किसान हित में बताया। इस पर उन्होंने कहाकि, बिल में किसानों का ख्याल रखा गया है। कांग्रेस का विरोध समझ से परे है। यह तो ऎसा है जैसे कि सौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली।

केन्द्रीय अल्पसंख्यक राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी सरकार का पक्ष रखा और गुजरात विकास मॉडल की पैरवी की। उन्होंने कहाकि हमारी सरकार किसानों के विकास के लिए ही है। देश में गुजरात मॉडल पर हमें गर्व है। इसे दुनिया ने भी आदर्श मॉडल के रूप में स्वीकार किया है। भ्रष्ट कांग्रेस को यह सूट नहीं करेगा।