किसानों को राहत मामले मे लापरवाही बर्दाश्त नहीं

किसानों को राहत मामले मे लापरवाही बर्दाश्त नहीं

इटावा: प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने आज इटावा में सिंचाई विभाग के नवीन निरीक्षण भवन सहित 86 कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। लगभग 45 करोड की लागत के इन कार्यों में 38 कार्यों का लोकार्पण और 48 कार्यों का शिलान्यास सम्मलित है। इसमें 14 करोड की 22 सडकें सम्मलित है। दो करोड 17 लाख की लागत से बने सिंचाई विभाग के नवीन निरीक्षण भवन और भोगनीपुर शाखा एवं गारमपुर रजवाह पर 90 लाख रूपये की लागत से बने 4 पुलों का लोकार्पण, नवीन नलकूप योजना में 10 नलकूपों का शिलान्यास, जल निगम की पाइप पेयजल योजना में लगभग 20 करोड की लागत की योजना का शिलान्यास, विद्युत विभाग के 1 करोड 84 लाख के 7 कार्यों का शिलान्यास, ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग के द्वारा डा. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम योजना में 1 करोड 80 लाख, लगभग 98 लाख की लागत से प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र बेलाहार का लोकार्पण किया। लोक निर्माण व सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल यादव ने इस अवसर पर ताखा में जन सभा को सम्बोधित किया और बडी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों से आये लोगों की समस्यायें सुनी। उन्होने व्यक्तिगत रूप से लोगों की शिकायतों की सुनवाई की और स्वयं उनके आवेदन/शिकायत पत्रों को लिया। जन सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि जल प्रबन्धन पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। वर्षा के जल को नदी, तालाबों में संचय कर सूखा व बाढ दोनों के समय कार्य किया जा सकता है। उन्होने बूंद - बूंद में सहभागिता और सिंचाई में सहकारिता की दिशा में योजनाओं के बारे में भी बताया।

उन्होने कहा कि प्रदेश में सिंचाई व्यवस्था की दृष्टि से दुनिया में सबसे बडी लगभग 74 हजार किलो मीटर लम्बाई में नहरें और गंगा, यमुना जैसी अनेक नदियाॅ है। पानी की कोई कमी नही है परन्तु जल श्रोतों के प्रबन्धन पर ध्यान दिया जाना जरूरी है। उन्होने तेजी से गिरते हुए जल स्तर पर चिन्ता प्रकट की उन्होने केन्द्र सरकार द्वारा गांव, गरीब, किसान के लिये मदद नही किये जाने पर भी चर्चा की।

उन्होेंने अधिकारियों को सचेत किया कि जनता की सुनवाई के लिये प्रतिदिन निर्धारित समय पर अपने कार्यालय में उपस्थित रहे और अपने दायित्वों का निष्ठा पुर्वक निर्वाहन करें। समस्याओं पर तुरन्त निर्णय ले, किसानों को राहत राशि तत्परता से दिलायें। उप जिलाधिकारी एवं तहसीलदार आदि स्वयं मौंके पर जाये उन्होने चेतावनी दी कि लापरवाही बरतने वाले अधिकारी बक्से नही जायेगें। उन्होने कहा कि अधिकारी अपने अधीनस्थ लापरवाह कर्मचारियों के विरूद्ध भी कठोर कार्यवाही सुनिश्चित करें। 

उन्होने नागरिकों से कहा कि सरकार ने दवा, पढाई और सिंचाई तीनों की निःशुल्क सुविधा, शादी व बीमारी में सहायता, गम्भीर बीमारियों का फ्री इलाज, समाजवादी पेंशन जैसी योजनायें चलाई है। जो किसी अन्य सरकारों ने नही बनाई, उन्होने कहा कि यदि कोई जनता को परेशानी है तो गोपनीय रूप से पत्र भेज सकते है जिस पर प्रभावी कार्यवाही की जायेगी।

Uttar Pradesh, India