आने वाले समय में मिसाली राज्य होगा उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री

आने वाले समय में मिसाली राज्य होगा उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश में बढ़ी हैं कारोबारी गतिविधियाँ , पिछले तीन वर्षों में राज्य की आर्थिक विकास दर देश की तुलना में बेहतर: अखिलेश 

‘एसोचैम’ के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को ‘उत्तर प्रदेश इंचिंग टूवड्र्स डबल डिजिट ग्रोथ’ रिपोर्ट सौंपी

लखनऊ:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि पिछले तीन साल के दौरान राज्य में कारोबारी गतिविधियों में भारी इजाफा हुआ है। समाजवादी सरकार के कार्यकाल में निवेश में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी हुई है और प्रदेश की छवि बेहतर बनी है।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर वाणिज्यिक एवं औद्योगिक संगठन ‘एसोचैम’ के पदाधिकारियों ने उन्हें अपनी संस्था की रिपोर्ट ‘उत्तर प्रदेश इंचिंग टूवड्र्स डबल डिजिट ग्रोथ’ सौंपी। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले तीन वर्ष के दौरान प्रदेश की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार आया, जिसके परिणामस्वरूप राज्य की विकास दर देश की तुलना में बेहतर रही। आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की आर्थिक सम्भावनाओं और राज्य कैसे दोहरे अंकों में आर्थिक विकास दर हासिल कर सकता है, इस नजरिये से यह रिपोर्ट बेहद महत्वपूर्ण है। 

श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश तमाम क्षेत्रों में तरक्की कर रहा है। अवस्थापना एवं औद्योगिक निवेश नीति सहित विभिन्न सेक्टरों की नीतियों के फलस्वरूप प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आई है। अवस्थापना एवं अन्य क्षेत्रों में राज्य सरकार के प्रयासों के नतीजे दिखने लगे हैं। देश-दुनिया के निवेशक प्रदेश के विकास में भागीदारी के लिए आगे आए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि इसी गति से विकास दर में बढ़ोत्तरी जारी रहने पर आने वाले समय में राज्य कई प्रदेशांे के लिए उदाहरण बनेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ओर जहां बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश सरकार सोशल सेक्टर पर भी पूरा ध्यान दे रही है। जिला मुख्यालयों को 4-लेन सड़कों से जोड़ने, लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना तथा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इन सभी में तेजी से कार्य प्रगति पर है। प्रदेश सरकार बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए गम्भीरता से प्रयास कर रही है। पिछले दिनों अनपरा-डी की 500 मेगावाट की पहली इकाई का लोकार्पण सम्पन्न हुआ। शीघ्र ही इस परियोजना की 500 मेगावाट की दूसरी इकाई की भी शुरुआत हो जाएगी। इसी प्रकार, ललितपुर तापीय परियोजनाओं की 660 मेगावाट की इकाई भी आने वाले समय में उत्पादन प्रारम्भ कर देगी। राज्य सरकार सौर ऊर्जा को भी बढ़ावा दे रही है। जनपद महोबा में 10 मेगावाट के सोलर प्लाण्ट ने उत्पादन प्रारम्भ कर दिया है। बिजली की बचत को बढ़ावा देने के लिए एल0ई0डी0 बल्ब वितरित किए जा रहे हैं।

श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार समाज के विभिन्न वर्गों के हितों का भी ध्यान रख रही है। किसानों को मुत सिंचाई की सुविधा के लिए राज्य सरकार ने कई सौ करोड़ रुपए की व्यवस्था की। बन्द जिला सहकारी बैंकों को चालू कराया, जिससे बड़े पैमाने पर किसानों को लाभ मिला। कामधेनु डेयरी योजना पशुपालकों की आय में बढ़ोत्तरी का उपयोगी माध्यम बनी है। उन्होंने कहा कि निवेश, नई तकनीक और अर्थव्यवस्था में सुधार का सर्वाधिक फायदा युवाओं को मिलेगा। इसे ध्यान में रखकर नौजवानों को रोजगारपरक प्रशिक्षण देने के लिए कौशल विकास मिशन संचालित किया जा रहा है। कई हजार युवाओं को सरकारी और निजी क्षेत्र में नौकरियां मिली हैं। ‘108’ और ‘102’ एम्बुलेन्स सेवा के माध्यम से जहां एक ओर रोगियों को समय से इलाज की सुविधा उपलब्ध हुई, वहीं दूसरी ओर इनके संचालन के जरिये नौकरियों के अवसर भी नौजवानों को उपलब्ध हुए। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में पुलिस विभाग में लगभग 22 हजार वाहन चालकों की भर्ती की जाएगी।

एसोचैम के महासचिव डी0एस0 रावत ने बताया कि रिपोर्ट को तैयार करने से पहले अथवा बाद में उनकी संस्था ने उत्तर प्रदेश सरकार से कोई विचार-विमर्श नहीं किया और अपने स्रोतों के आधार पर इसे अन्तिम रूप दिया। उन्होंने बताया कि अध्ययन के पहले हिस्से में राज्य के आर्थिक प्रदर्शन का विश्लेषण किया गया है, जबकि दूसरे भाग में बुनियादी ढांचे तथा तीसरे में औद्योगिक विकास की समीक्षा की गई है। राज्य की अर्थव्यवस्था में सुधार के फलस्वरूप देश की अर्थव्यवस्था में प्रदेश का योगदान बेहतर हुआ है। वर्ष 2012-13 में राज्य की हिस्सेदारी राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में 8.08 प्रतिशत थी, जो वर्ष 2013-14 में बढ़कर 8.12 प्रतिशत हो गई। इस दौरान प्रदेश के आर्थिक विकास की दर का भारत की विकास दर से बेहतर प्रदर्शन रहा।

एसोचैम के उत्तरी क्षेत्र के चेयरमैन डाॅ0 ललित खैतान ने अपने सम्बोधन में संस्था के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

इस अवसर पर ऊर्जा राज्य मंत्री यासर शाह, मुख्य सचिव आलोक रंजन, विधायक संग्राम सिंह, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास महेश गुप्ता, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, सचिव मुख्यमंत्री पार्थ सारथी सेन शर्मा, विशेष सचिव औद्योगिक विकास सुश्री कंचन वर्मा, विशेष सचिव मुख्यमंत्री जी0एस0 नवीन कुमार भी उपस्थित थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India