विश्व नंबर एक बनने के करीब पहुंची सानिया मिर्जा

विश्व नंबर एक बनने के करीब पहुंची सानिया मिर्जा

नई दिल्ली : मार्टिना हिंगिस के साथ मियामी ओपन का खिताब जीतकर 1000 रैंकिंग अंक हासिल करने वाली भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने आज विश्व की नंबर एक युगल खिलाड़ी बनने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये। सानिया अभी महिला युगल रैंकिंग में तीसरे नंबर पर बनी हुई है लेकिन विश्व की नंबर एक इटली की सारा ईरानी और राबर्टा विन्सी से वह अब केवल 145 अंक पीछे है। ईरानी और विन्सी दोनों के 7640 अंक हैं। हिंगिस के साथ लगातार दूसरा खिताब जीतने वाली सानिया 7495 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है।

सानिया को अब विश्व की नंबर एक खिलाड़ी बनने के लिये इस सप्ताह चार्ल्सटन में शुरू होने वाले फेमिली सर्किल कप में जीत दर्ज करनी होगी। यहां सानिया और हिंग्सि को शीर्ष वरीयता दी गयी है। यह टूर्नामेंट हालांकि हरे क्लेकोर्ट पर खेला जाएगा। सानिया और उनकी जोड़ीदार को ऐसे कोर्ट पर बिना अभ्यास के इस टूर्नामेंट में खेलना होगा। यह लाल रंग के क्लेकोर्ट से थोड़ा तेज होता है।

सानिया ने 2011 में इलेना वेसनिना के साथ मिलकर चार्ल्सटन में महिला युगल खिताब जीता था। इस बीच डब्ल्यूटीए एकल रैंकिंग अंकिता रैना एक पायदान उपर 252वें स्थान पर पहुंच गयी। एटीपी रैंकिंग में सोमदेव देववर्मन एकल में भारत के शीर्ष खिलाड़ी बने हुए हैं। वह विश्व रैंकिंग में पांच पायदान उपर 171वें स्थान पर पहुंच गये हैं। रामकुमार रामनाथन 233वें नंबर के साथ भारतीयों में दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने 14 पायदान की छलांग लगायी। इनके बाद युकी भांबरी ( 251 ) का नंबर आता है जो छह पायदान उपर चढ़े। युगल रैंकिंग में लिएंडर पेस 23वें जबकि रोहन बोपन्ना 24वें स्थान पर हैं। ये दोनों खिलाड़ी दो-दो पायदान आगे बढ़े हैं।