प्रशांत-योगेंद्र पर केजरीवाल खेमे का पलटवार

प्रशांत-योगेंद्र पर केजरीवाल खेमे का पलटवार

नई दिल्ली। अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी में मचा घमासान और तेज होता जा रहा है। योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के आरोपों पर आज आम आदमी पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पलटवार किया। ‘आप’ ने पीसी में कहा कि योगेंद्र और प्रशांत भूषण मुख्यमंत्री और पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को गलत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं।

‘आप’ के नेता संजय सिंह ने कहा कि योगेंद्र यादव और प्रशांत जी ने कई प्रश्न खड़े किए हैं। दोनों ने यह कहने की कोशिश की है कि सारी कमियां केजरीवाल और हम लोगों में ही आ गई हैं। संजय सिंह ने कहा कि पार्टी और अरविंद केजरीवाल में देश की जनता को कमियां नहीं दिखाई देती हैं लेकिन उन्हें दिखाई देती हैं।

संजय सिंह ने योगेंद्र और प्रशांत के उस आरोप का जवाब भी दिया जिसमें योगेंद्र ने कहा था कि उनकी कोई बात नहीं मानी गई। संजय ने कहा कि कौशांबी में हुई मीटिंग के दौरान आरटीआई, वोलांटिएर की भागीदारी समेत कई मुद्दों पर सहमति हुई जबकि कुछ और होने थे।

आप नेता संजय सिंह ने कहा कि योगेंद्र यादव ने पहले खुद कहा था कि स्टिंग ऑपरेशन को मीडिया बढ़ा चढ़ाकर दे रहा है, अब जांच की बात कर रहे हैं। संजय ने बताया कि आशीष खैतान के यहां पार्टी की मीटिंग हुई थी, जिसमें योगेंद्र के पांच मुद्दों पर बात होनी थी लेकिन मीटिंग में योगेंद्र ने कहा अब पांच मुद्दे महत्व के नहीं रहे। तब योगेंद्र ने कहा था कि जो आशीष और पृथ्वी रेड्डी तय करेंगे वो हमें मान्य होगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए पार्टी नेता आशीष खेतान ने कहा कि हमने पीएसी से साथियों को हटाने का फैसला लिया उसके पीछे कुछ कारण थे। तब ये तय हुआ था इसकी बात बाहर जाकर नहीं कहेंगे लेकिन दो लोगों ने उसे तोड़ा तब ये निर्णय करना पड़ा कि स्थितियां साफ हो जाएं। आशीष खेतान ने कहा कि जब दिल्ली में विधानसभा चुनाव हो रहे थे तब वो आवाम जो बीजेपी के कालेधन से चलती है उसके साथ खड़े हुए, तब एनई को उन्हें पीएसी से हटाना पड़ा।