लोनिवि प्रान्तीय खण्ड के गैराजों और प्रागण में बसपा नेता का अवैध कब्जा

लोनिवि प्रान्तीय खण्ड के गैराजों और प्रागण में बसपा नेता का अवैध कब्जा

विभागाध्यक्ष ने अधिशासी अभियंता से मांगा जवाब, कर्मचारी वेलफेयर एसोसिएशन तीस मार्च से करेगा तालाबंदी

लखनऊ। लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड में पिछले दस सालों से बसपा के नेता के अवैध कब्जे तथा भवन के आने जोन का आम रास्ता बना लेने के विरोध में लगातार कर्मचारी संगठन अपना विरोध दर्ज कराते रहे है लेकिन उच्च अधिकारियों की मिलीभगत के चलते उक्त बसपा नेता के खिलाफ कोई वैधानिक कार्रवाई नही की गई। सरकारी सम्पति को क्षतिग्रस्त करने, सरकारी गैराजों को अपने कब्जे में करने तथा विभागीय भूमि पर अवैध निर्माण कराने जैसे कृत्य करने वाले उक्त बसपा नेता शिवप्रकाश उर्फ सेनानी के खिलाफ जब जब कर्मचारियों एवं कर्मचारी नेताओं ने शिकायत दर्ज कराई तब-तब उक्त बसपा नेता ने कर्मचारियों को जान से मारने की धमकी दी। इस मामले में अब लोक निर्माण विभाग संयुक्त वेलफेयर एसोसिएशन तथा उसके साथ कई कर्मचारी संगठनों ने सेनानी के खिलाफ एवं उसके खिलाफ सरकारी सम्पत्ति के दुरूपयोग, क्षतिग्रस्त करने तथा प्रान्तीय खण्ड को उसके कब्जे से मुक्त कराने के लिए आन्दोलन की घोषणा कर दी है। वेलफेयर एसोएिशन के अध्यक्ष त्रिलोक सिंह, महामंत्री रामराज दुबे और वरिष्ठ उपाध्यक्ष भारत सिंह यादव ने विभागीय मंत्री, प्रमुख सचिव लोनिवि और विभागाध्यक्ष को भेजे नोटिस में स्पष्ट किया है कि अगर शिवप्रकाश मिश्रा के खिलाफ संवैधानिक कार्रवाई नही की गई तो 30 मार्च से प्रान्तीय खण्ड एवं लोनिवि मुख्यालय पर तालाबंदी शुरू कर दी जाएगी। 

वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि बसपा नेता शिवप्रकाश मिश्रा ने विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से लोनिवि प्रान्तीय खण्ड राजभवन के सामने अवैध कब्जा कर प्रान्तीय खण्डकी सरकारी जमीन पर अपना दरवाजा बना रखा है। यही नही प्रान्तीय खण्ड के चार गैराजों की बाउण्ड्रीवाल तोड़कर उन पर अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। यही नही प्रान्तीय खण्ड को पानी उपलब्ध करने वाले सरकारी पम्प से अवैध रूप से कनेक्शन लेकर पानी की आपूर्ति अपने हित में कर रहे है। सरकारी सम्पति को क्षति पहुचाने के आरोपी उक्त बसपा नेता के खिलाफ कई बार विभिन्न संगठनअ के पदाधिकारी शिकायत दर्ज कर चुके है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नही हुई है। उधर इस सम्बन्ध में प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष ने इस मामले में अतिक्रमण, गैराजों के बेजा दुरूपयोग के लिए अधिशासी अभियंता प्रान्तीय खण्ड की जिम्मेदारी सुनिश्चित करते हुए उनसे आग्रिम कार्रवाई के लिए कहा है। उन्होंने कैम्पस में अतिक्रमण एवं सरकारी सम्पत्ति के बेजा दुरूपयोग को रोकने के लिए उनको वरिष्ठ स्टाफ अफसर सामान्य मुख्यालय को भी तैनात किया हैं। लेकिन चैबीस घन्टे बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नही हुई है। इससे नाराज वेलफेयर एसोसिएशन ने सरकारी सम्पत्ति के लगातार बेजा दुरूपयोग सरकारी जल का अवैध रूप से कनेक्शन उपयोग करने तथा प्रान्तीय खण्ड प्रागण में अवैध निर्माण तथा प्रागण का अवैध रूप से पार्किग के रूप से उपयोग करने वाले शिवप्रकाश सेनानी पर एफआईआर दर्ज कराने तथा गैराजों को अवैध कब्जे से मुक्त कराने तथा सरकारी भवन में बने गेट को बंद कराने की मांग को लेकर 30 मार्च से तालाबंदी का निर्णय लिया है। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India