इंटरनेट के दौर में सेंसर बोर्ड की क्या ज़रुरत?

इंटरनेट के दौर में सेंसर बोर्ड की क्या ज़रुरत?

मुंबई। फिल्म "पीके" को लेकर विवादों में रहे मिस्टर परफेक्टनिस्ट, अभिनेता आमिर खान लगता है सेंसर बोर्ड से खफा है। तभी तो वह बयानबाजी करते नजर आ रहे है। आमिर का कहना है कि भला आज के दौर में सेंसर बोर्ड की जरूरत नहीं है।

आमिर ने कहा, मोबाइल, इंटरनेट के आज के युग में लोग मनचाही फिल्में और वीडियो देख सकते है। वहां किसी तरह का सेंसर नहीं चलता। तो फिर सेंसर बोर्ड की क्या जरूरत है। 

मिस्टर परफेक्टनिस्ट ने कहा, लोगों को क्या देखना चाहिए, क्या नहीं। इसका निर्णय लेने में वह सक्षम है।

गौरतलब है कि आमिर की फिल्म "पीके" पर विवाद होने के बाद सेंसर बोर्ड ने आपत्ति जताई थी। आपकों बतादें हाल ही में आमिर एआईबी रोस्ट पर विवादित वीडियो पर टिप्पणी को लेकर सुर्खियों में रहे थे।