यादव सिंह पर सपा सरकार मेहरबान क्यों: पाठक

यादव सिंह पर सपा सरकार मेहरबान क्यों: पाठक

लखनऊ:  भारतीय जनता पार्टी ने यादव सिंह प्रकरण पर अलिखेश सरकार की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आखिर किन परिस्थितियों में केन्द्र सरकार के पत्र के बावजूद राज्य सरकार ने यादव सिंह प्रकरण से जुड़े दस्तावेज सी.बी.आई. को नहीं सौपें। पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने सी.बी.आई. को यादव सिंह प्रकरण के दस्तावेज सौपने को लेकर केन्द्र सरकार द्वारा राज्य सरकार को लिखे गये पत्र के खुलासे के बाद कहा कि आखिर अखिलेश सरकार यादव सिंह पर इतनी मेहरबान क्यों है ? सत्तारूढ़ दल में वो कौन जौहरी है जिसने यादव सिंह के जौहर को पहचनाते हुए उन्हें दागदार होने के बावजूद अतिरिक्त कार्य भार सौपा और अब येन केन का प्रकारेण कैसे इस मामले को लटकाया जाये इस कोशिश में जुटे है।

आज सोमवार को पार्टी मुख्यालय पर यादव सिंह प्रकरण पर केन्द्र सरकार के पत्र के मीडिया में हुए खुलासे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने अखिलेश सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि भ्रष्टाचार को संरक्षण (करेपशन को कवरप) देने की नीति के तहत यादव सिंह प्रकरण पर नित नये उपायों से उसके बचाव और संरक्षण में सपा सरकार जुटी है। उन्होंने कहा कि ऐसी कौन सी काबिलियत थी जिसके कारण राज्य सरकार ने तीन-तीन महत्वपूर्ण पदों पर यादव सिंह को नियुक्त कर उसे भ्रष्टाचार व घोटाले को अंजाम देने का अवसर प्रदान किया। उन्होंने कहा अखिलेश सरकार यादव सिंह द्वारा किये गये घपलों-घोटालों के खुलासे के बाद से ही उसे बचाने में जुट गई। सुप्रीम कोर्ट ने यादव सिंह प्रकरण की जांच विदेशों में जमा धन की जांच के लिये गठित एस.आई.टी. से कराने की सिफारिश की थी। इस पर एस.आई.टी. ने राज्य सरकार से यादव सिंह प्रकरण के जांच सी.बी.आई. से कराने की सिफारिश कर दी। पर अब राज्य सरकार पूरे मामले पर मौन साधे हुए है। 

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती बसपा सरकार में हुए के आरोपियों भ्रष्टाचार को संरक्षण देने जुटी समाजवादी पार्टी घपलो और घटालों की सार्वजनिक चर्चा तो करती है लेकिन जब कार्यवाही और पहल की बात होती है तो सरकार भ्रष्टाचार के आरोपियों को सेफपैसेजे देने जुट जाती है चाहे वो पार्कों, मुर्तियांे के घोटालों का प्रकरण हो या बसपा राज में हुए अन्य घोंटालों का हर बार एक जांच से दूसरी जांच में हेर-फेर करते हुए अखिलेश सरकार समय व्यतीत करने में जुटी है। सत्ता में आने पर आयोग बनाकर भ्रष्टाचार के मामलो की समय बद्ध जांच कराने का वादा करने वाली समाजवादी पार्टी ने अब तक आयोग तो बनाया नहीं, जांच क्या होगी ? 

भाजपा प्रवक्ता ने अखिलेश सरकार को सलाह देते हुए कहा कि यादव सिंह को बचाने के बजाय भ्रष्टाचार के विरूद्ध समयबद्ध व कठोर कार्यवाही के अपने वादे को पूरा करे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India