मुख्यमंत्री ने स्कूली बच्चों को परोसा खाना

मुख्यमंत्री ने स्कूली बच्चों को परोसा खाना

अखिलेश ने लखनऊ में अक्षयपात्र संस्था द्वारा निर्मित केन्द्रीकृत आधुनिक रसोईघर का उद्घाटन किया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज यहां मध्यान्ह भोजन योजना के अन्तर्गत जनपद लखनऊ में अक्षयपात्र संस्था द्वारा निर्मित केन्द्रीकृत आधुनिक रसोईघर का बटन दबाकर उद्घाटन करते हुए कहा कि इस योजना के लागू होने का लाभ प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों को मिलेगा। इस रसोईघर के माध्यम से स्कूली बच्चों को साफ-सुथरा और पौष्टिक भोजन मिलेगा, जिससे उनमें कुपोषण की समस्या से भी निपटा जा सकेगा। साथ ही, अब बच्चों में स्कूल आने के प्रति आकर्षण भी बढ़ेगा और उनका पढ़ने में मन भी लगेगा। 

मुख्यमंत्री ने अक्षयपात्र फाउण्डेशन के वाइस चेयरमैन तथा ट्रस्टी चंचलापति दास को रसोईघर को समयबद्ध ढंग से पूर्ण करने पर बधाई देते हुए कहा कि दो वर्ष पूर्व जब उन्होंने संस्था द्वारा वृन्दावन में स्थापित ऐसे ही एक रसोईघर को देखा था तभी उन्होंने उनसे ऐसे रसोईघर प्रदेश के दूसरे हिस्सों में स्थापित करने का अनुरोध किया था। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस रसोईघर के माध्यम से अब लखनऊ जनपद के स्कूली बच्चों को शुद्ध एवं पौष्टिक भोजन समय पर मुहैय्या कराया जा सकेगा। 

श्री यादव ने कहा कि संस्था द्वारा स्थापित रसोईघर का लाभ न केवल बच्चों को मिलेगा, बल्कि इसका लाभ सरकार को भी मिलेगा, क्योंकि इसके माध्यम से अब और अधिक संख्या में बच्चों को स्कूलों के प्रति आकर्षित कर उन्हें शिक्षित किया जा सकेगा। साथ ही, उन्हें पौष्टिक भोजन के माध्यम से स्वस्थ भी बनाया जा सकेगा। उन्होंने संस्था से प्रदेश के दूसरे जिलों में भी ऐसे रसोईघर स्थापित करने का अनुरोध किया। वाराणसी जनपद में ऐसी रसोई बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ऐसे रसोईघर स्थापित करने में हर सम्भव सहायता देगी। उन्होंने इस रसोईघर की स्थापना में अक्षयपात्र फाउण्डेशन के साथ सहयोग करने के लिए कैटरपिलर फाउण्डेशन को भी बधाई दी तथा उनकी सराहना भी की। उन्होंने कार्यक्रम के उपरान्त उपस्थित स्कूली बच्चांे को स्वयं भोजन भी परोसा।

आज प्रदेश सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में श्री यादव ने कहा कि पिछले तीन वर्षाें के अन्दर सरकार ने राज्य को विकास के पथ पर आगे बढ़ाया है और अपने कार्यक्रमों, नीतियों तथा योजनाओं से गांव, गरीब, किसान, वंचित वर्गांे, अल्पसंख्यकों, छात्रों, महिलाओं इत्यादि को लाभान्वित किया है। सभी वादों को पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार आवश्यक अवस्थापना सुविधाओं जैसे सड़क, पुल, आर0ओ0बी0 इत्यादि के निर्माण पर विशेष ध्यान दे रही है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे एक अत्यन्त महत्वपूर्ण परियोजना है, जिसके पूर्ण होने पर न केवल यात्रा समय में कटौती होगी, बल्कि इस एक्सप्रेस-वे के इर्द-गिर्द कई मण्डियां तथा उद्योग इत्यादि भी विकसित किए जाएंगे, जिनसे रोजगार का सृजन होगा। 

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना की कई लोगों ने खिल्ली उड़ाने की कोशिश की, परन्तु अब वही लोग वाई-फाई की बात कर रहे हैं। उन्होंने जानना चाहा कि आखिर वाई-फाई चलेगा किस पर घ् उन्होंने कहा कि लखनऊ सहित प्रदेश के चार अन्य नगरों में मेट्रो रेल चलाने की कार्यवाई की जा रही है। लखनऊ मेट्रो रेल निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।

 श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में चलाई गई ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस अत्यन्त सफल योजनाएं हैं, जिनका लाभ गरीबों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि 500 नई एम्बुलेन्स और चलाई जाएंगी। प्रदेशवासियों को प्रभावी कानून व्यवस्था उपलब्ध कराने की दृष्टि से पुलिस के रिस्पाॅन्स टाइम में कमी लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। जिस प्रकार से ‘108’ अथवा ‘102’ नम्बर पर काॅल करने के आधे घण्टे के अन्दर एम्बुलेन्स पहंुच जाती है, उसी प्रकार 100 नम्बर पर काॅल करने के 15 मिनट के अन्दर पुलिस के घटना स्थल पर पहुंचने की व्यवस्था की जा रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में समाजवादी पंेशन योजना लागू की गई है, जिसका लाभ 40 लाख गरीब परिवारों मिल रहा है।  इस योजना में गरीब परिवारों की महिला मुखिया को पेंशन उपलब्ध करायी जाती है। उन्होंने कहा कि इस योजना के लागू होने से परिवारों में महिलाओं का सम्मान बढ़ेगा। 

श्री यादव ने कहा कि विगत तीन वर्षाें के अन्दर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं अभूतपूर्व सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि जनहित की अन्य योजनाएं भी चलायी जा रही हैं। प्रदेश में विद्युत व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार विकास के लाभ सभी को उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India