पाकिस्तान: गिरजाघरों में आत्मघाती हमले, 17 की मौत

पाकिस्तान: गिरजाघरों में आत्मघाती हमले, 17 की मौत

लाहौर : पाकिस्तान के लाहौर में बसी देश की सबसे बड़ी ईसाई कालोनी योहानाबाद में आज दो गिरिजाघरों में प्रार्थना के दौरान तालिबानी आतंकियों द्वारा किए गए आत्मघाती हमलों में कम से कम 17  लोग मारे गए और 40 से अधिक लोग घायल हो गए। तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान से अलग होकर बने समूह जमातुल अहरार ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। गुस्साई भीड़ ने एक संदिग्ध को पकड़ कर उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी।

हमलावरों ने रविवार की प्रार्थना के दौरान योहानाबाद इलाके में स्थित रोमन कैथोलिक चर्च और क्राइस्ट चर्च को निशाना बनाया, जिसके बाद वहां भगदड़ मच गयी और आतंकित लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे। विस्फोटों में एक पुलिसकर्मी समेत कम से कम 17  लोग मारे गए और महिलाओं तथा बच्चों समेत करीब 40 से अधिक लोग घायल हो गए। घायलों को लाहौर के जनरल अस्पताल में ले जाया गया है।

डॉन की खबर के अनुसार, शुरूआती रिपोर्टों में पता चला है कि दो आत्मघाती हमलावरों ने हमले को अंजाम दिया। हमले में कथित रूप से शामिल एक युवक को गुस्साई भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला और उसके शव को आग लगा दी। विस्फोट स्थलों से दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान से अलग होकर बने समूह जमातुल अहरार ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है ।

पाकिस्तान के सबसे बड़े ईसाई रिहायशी इलाके योहानाबाद में कम से कम दस लाख लोग रहते हैं। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों को लंबे समय से चरमपंथियों और आतंकवादी समूहों द्वारा निशाना बनाया जाता रहा है। वर्ष 2013 में पेशावर के कोहाटी गेट इलाके में आल सेंट्स चर्च पर दो आत्मघाती हमलों में 80 लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हुए थे।