सैफ से पद्म पुरस्कार वापस ले सकती है केंद्र सरकार?

सैफ से पद्म पुरस्कार वापस ले सकती है केंद्र सरकार?

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मुंबई पुलिस से पद्म श्री से सम्मानित अभिनेता सैफ अली खान के एक रेस्त्रां में कथित हाथापाई के मामले को लेकर जल्द रिपोर्ट भेजने को कहा है। यह रिपोर्ट पिछले सात महीने से लंबित है।

रिपोर्ट एक आरटीआई कार्यकर्ता की शिकायत के बाद मांगी गई है, जिसने मुंबई की एक अदालत द्वारा सैफ के खिलाफ आरोप तय करने की खबर के बाद उनसे पद्म पुरस्कार वापस लेने की मांग की थी।

आरटीआई (सूचना का अधिकार) आवेदन का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि उसने कथित हाथापाई को लेकर मुंबई पुलिस से रिपोर्ट मांगी है और रिपोर्ट का इंतजार है।

मंत्रालय ने कार्यकर्ता सुभाष अग्रवाल के आरटीआई आवेदन के जवाब में कहा, 'सैफ अली खान के संबंध में मुंबई पुलिस से 20 अगस्त, 2014 की तारीख वाले मंत्रालय के पत्र संख्या 1.3112014-पब्लिक का कोई जवाब नहीं मिला है। मुंबई पुलिस को मामले में तेजी लाने के लिए कहा गया है।' जवाब में कहा गया कि इसी तरह मंत्रालय ने पद्म श्री से सम्मानित एक और व्यक्ति अरुण फिरोदिया के खिलाफ संबंधित कर प्राधिकरण से भी शिकायत की है।

अग्रवाल ने गृह मंत्रालय से शिकायत कर कहा था कि सैफ के खिलाफ मुंबई के एक रेस्त्रां में हाथापाई के मामले में वहां की एक अदालत ने आरोप तय किए हैं।

अग्रवाल ने आरोप लगाया था, 'फिल्म अभिनेता पहले ही कई दूसरे आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं। एक आरटीआई के जवाब में पता चला कि कई आपराधिक मामलों में शामिल सैफ अली खान की 'पुरस्कार समिति' ने एक बैठक में सिफारिश की थी लेकिन समिति के सदस्य के नाम का जिक्र नहीं किया गया जिन्होंने उनके नाम की सिफारिश की थी।' उन्होंने मांग की थी कि गृह मंत्रालय को न केवल सैफ से बल्कि इस तरह के दूसरे विवादित लोगों से भी पद्म पुरस्कार वापस ले लेने चाहिए।