गिमा अवार्ड्स में कल्याणजी-आनंदजी के संगीत को जीवंत बनाया

गिमा अवार्ड्स में कल्याणजी-आनंदजी के संगीत को जीवंत बनाया

मुंबई। हंगामा डाट काम भारत की सबसे बड़ी म्यूजिक सर्विस द्वारा ग्लोबल इंडियन म्यूजिक एकेडमी (गिमा) अवार्ड्स 2015 में कल्याणजी-आनंदजी को अनूठे अंदाज में श्रद्धांजलि दी गई है। हंगामा डाट काम ने एक विशेष क्षेत्र- द हंगामा स्टूडियो का निर्माण किया गया था, जहां पर चर्चित हस्तियों ने अपनी शैली में इस संगीतकार जोड़ी के हिट गानों पर परफाॅर्म किया। 

कल्याणजी-आनंदजी को श्रद्धांजलि देने वाले कलाकारों में सोनू निगम, शान, शंकर महादेवन, अंकित तिवारी, अरिजित सिंह, प्रीतम, मीका सिंह और श्रद्धा कपूर जैसी हस्तियां शामिल थीं। हंगामा स्टूडियो में कलाकारों ने इस दिग्गज संगीतकार जोड़ी के सदाबहार गानों की याद ताजा की। इन गानों में कुर्बानी (1980) के लैला ओ लैला से लेकर ब्लैकमेल (1980) का पल पल दिल के पास और जांबाज (1986) का हर किसी को नहीं मिलता गाना तक शामिल था। गिमा अवार्ड्स 2015 का प्रसारण रविवार, 15 मार्च को स्टार प्लस पर किया जायेगा। 

कल्याणजी-आनंदजी को भारत की एक बेहतरीन संगीतकार जोड़ी माना जाता है। इस दिग्गज जोड़ी ने 250 से अधिक फिल्मों में संगीत दिया है। उनके द्वारा संगीतबद्ध किये गये कुछ सर्वाधिक यादगार गानों में- पल पल दिल के पास (ब्लैकमेल), खईके पान बनारस वाला (डाॅन), ये समां, समां है ये प्यार का (जब जब फूल खिले), ओ साथी रे तेरे बिना भी (मुकद्दर का सिकंदर) और कई अन्य गीत शामिल हैं।

हंगामा डाट काम के सीईओ श्री सिद्धार्थ राॅय, सीईओ ने कहा, ‘‘हमने भारत के एक सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के सम्मान के लिये हंगामा स्टूडियो का निर्माण किया था और कल्याणजी-आनंदजी के संगीत के प्रति मौजूदा दौर की हस्तियों का उत्साह देखकर हमें बेहद खुशी हुई।‘‘ हंगामा डाट काम ने गिमा के साथ गठबंधन किया है। इस साझेदारी के अंतर्गत पुरस्कार की एक नई श्रेणी ‘मोस्ट स्ट्रीम्ड साॅन्ग आॅफ द ईयर‘ की पेशकश की गई है।‘‘