लोकलुभावनी योजनाओं की घोषणा से प्रदेश पर बढ़ रहा है क़र्ज़: बीजेपी

लोकलुभावनी योजनाओं की घोषणा से प्रदेश पर बढ़ रहा है क़र्ज़: बीजेपी

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की जनता बढ़ रहे कर्ज पर चिन्ता व्यक्त की हैं। भाजपा प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा प्रदेश सरकार ने वर्ष 2014 - 2015 के लिए प्रस्तुत बजट 3 लाख करोड़ से अधिक का है जब कि सरकार ने स्वीकार किया है कि प्रदेश पर 2,65770 करोड़ कर्ज जिसके ब्याज के बतौर 18 हजार 636 करोड़ का भुगतान प्रतिवर्ष करना पड़ रहा है। जो प्रदेश के विकास की रफ्तार को प्रभावित करने वाला है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा निरन्तर लोकलुभावनी योजनाओं की घोषणा से प्रदेश के कर्ज को निरन्तर वृद्धि करने के का काम कर रही है। लेकिन प्रदेश में सरकार को प्रदेश के कोष में वृद्धि समृद्धि व विकास कैसे को तथा प्रदेश की बेरोजगारी कैसे दूर हो इसकी चिन्ता नहीं है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि आय व व्यय का संतुलन ही प्रदेश के विकास को गति दे सकता है। प्रदेश का विकास महज कर्ज की अर्थव्यवस्था से सम्भव नहीं है। हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने सपा सरकार पर दिशा विहीन होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार में विकास के लिए स्पष्ट नीतियों व सोच का पूर्णतया अभाव है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार ने तीन वर्ष पहले प्रदेश को आई.टी. हब बनाने की घोषणा की थी जो आज तक धरातल पर सरकार नहीं हो पाई तथा औद्योगिक विकास व किसानों के लिए आज तक ऐसी किसी नीति को लागू नहीं कर पाई  जिससे प्रदेश की आय बढ़ती और जनता में समृद्धि है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश के विकास में लगने वाला धन कर्ज के ब्याज अदायगी में जा रहा है जो विकास में लगता प्रदेश में खुशहाली आती व बेरोजगारी दूर होती। हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि आय की चिन्ता किए बिना समृद्धि नहीं जो महज लोकलुभावन नीतियों से सम्भव नहीं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India