उन्नाव रेप केस: घटनास्थल की जांच करने पहुंची CBI की 12 सदस्यीय टीम

उन्नाव रेप केस: घटनास्थल की जांच करने पहुंची CBI की 12 सदस्यीय टीम

नई दिल्ली: उन्नाव रेप पीड़िता की कार एक्सीडेंट मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद बुधवार को सीबीआई की 12 सदस्यीय टीम रायबरेली पहुंची. सीबीआई की टीम घटनास्थल की जांच करेगी. साथ ही जेल में बंद ट्रक के ड्राइवर व क्लीनर से भी पूछताछ करेगी. बता दें रविवार को हुए सड़क हादसे में रेप पीड़िता की मौसी और चाची की मौत हो गई थी, जबकि पीड़िता और उसके वकील खुद गंभीर रूप से घायल हैं. दोनों का इलाज लखनऊ के ट्रामा सेंटर में चल रहा है.

गौरतलब है कि पीड़िता की चाची रेप के मामले में सीबीआई की गवाह थीं. मामले में सीबीआई ने मंगलवार को पीड़िता के चाचा की तहरीर पर 9 नामजद और 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. सीबीआई द्वारा दर्ज एफआईआर में बांगरमऊ सीट से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई मनोज समेत 25 लोगों पर हत्या, हत्या का प्रयास, आपराधिक साजिश की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन ब्रांच (एसीबी) ने यह एफआईआर दर्ज की है.

दर्ज एफआईआर में कुलदीप सिंह सेंगर, मनोज सिंह सेंगर, विनोद मिश्रा, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, रिंकू सिंह, वकील अवधेश सिंह को आरोपी बनाया गया है. इसमें हरिपाल सिंह और रिंकू सिंह रेप केस में आरोपी शशि सिंह के पति और बेटे हैं. कोमल सिंह विधायक के भाई मनोज सिंह के दोस्त हैं. नवीन सिंह विधायक के राइट हैंड कहे जाते हैं. ज्ञानेंद्र सिंह पत्रकार हैं और कुलदीप के खास दोस्तों में से हैं. वकील अवधेश सिंह कुलदीप के मामलों की पैरवी करते हैं. इसके अलावा 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है.

आरोपियों में एक अरुण सिंह को योगी सरकार में कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र सिंह उर्फ धुन्नी सिंह का दामाद बताया जा रहा है. रेप पीड़ित के परिजनों का कहना है कि यह वही अरुण सिंह हैं, जो मंत्री के दामाद हैं और नवाबगंज से ब्लॉक प्रमुख हैं.

Uttar Pradesh, India