जै़नब अली का चीन के समर ट्रेनिंग कार्यक्रम में चयन

जै़नब अली का चीन के समर ट्रेनिंग कार्यक्रम में चयन

लखनऊः किसी भी विद्यार्थी के जीवन में अंतर्राष्ट्रीय विद्यार्थी विनिमय कार्यक्रम सबसे प्रतिष्ठित मानी जाने वाली गतिविधियों मे से एक है। इसे ध्यान में रखते हुये भारत के कई प्रमुख संस्थानों जैसे-अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़, ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय, लखनऊ और लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ ने विदेशी संस्थानों जैसे-मेमोरियल यूनिवर्सिटी कनाडा, हेबै यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, चीन और ब्रुनी विश्वविद्यालय, ओमान इत्यादि से छात्रों के उज्ज्वल भविष्य के लिये सहभागिता पर कई समझौता ज्ञापनों पर एक मत बना है। इसे ध्यान में रखते हुए, इन संस्थानों ने भारत और विदेशों में कई कार्यशालाएं, सम्मेलन, सेमिनार और शोध आदि आयोजित किए जा रहे हैं।

हाल ही में श्म्दजतमचतमदनमतेीपचश् विषय पर ‘‘समर इंटर्नशिप प्रोग्राम’’ हेबै यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, चीन में दिनांक 01 जुलाई, 2019 से 20 जुलाई, 2019 तक आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम में चीन, कनाडा और भारत के रिसोर्स पर्सन द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है, जबकि प्रतिभागियों का चयन दुनिया भर से किया जाएगा। कठिन चयन प्रक्रिया का सामना करने के बाद-लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ के वाणिज्य विभाग के बी0काॅम0 (आनर्स) द्वितीय वर्ष से सुश्री जैनब अली को सफलतापूर्वक इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए चुना गया है। सुश्री अली को कार्यक्रम के लिए पूर्ण फैलोशिप के साथ चुना गया है जिसमें कार्यक्रम शुल्क, लॉजिंग, हवाई टिकट और औद्योगिक क्षेत्र के दौरे शामिल हैं। विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति महोदय, प्रो0 एस0पी0 सिंह ने सुश्री जै़नब को बधाई देते हुये उनकी सफलता को विश्वविद्यालय की सफलता बताया और उनके सफल एवं सुखद यात्रा की मंगलकामना की साथ-साथ ही लखनऊ विश्वविद्यालय के संकायाध्यक्ष, प्रो0 सोमेश कुमार शुक्ल ने सुश्री ज़ैनब की इस कामयाबी पर खुशी का इज़हार करते हुये कहा जै़नब जैसे छात्र न सिर्फ विश्वविद्यालय प्रान्त बल्कि देश का नाम ऊंचा करने हेतु सदैव तत्पर रहते हैं। उनकी चीन यात्रा हमारे देश की कई अन्य छात्राओं के लिए प्रेरणा का स्रोत होगी जो वैश्विक मंच पर अपनी पहचान बनाना चाहती हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India