कप्तान बदलने पर राशिद खान-मोहम्‍मद नबी जताया विरोध

कप्तान बदलने पर राशिद खान-मोहम्‍मद नबी जताया विरोध

नई दिल्ली: अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने विश्व कप शुरू होने से पहले अशगर अफगान को शुक्रवार को अफगानिस्तान के कप्तान पद से बर्खास्त कर दिया और क्रिकेट बोर्ड ने तीनों प्रारूपों में अलग अलग कप्तान नियुक्त कर दिए। बोर्ड के इस फैसले से अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के दो बड़े खिलाड़ी राशिद खान और मोहम्मद नबी खुश नहीं हैं। दोनों खिलाड़ियों ने इस बदलाव की आलोचना की है। राशिद और नबी ने ट्विटर के माध्यम से बोर्ड द्वारा कप्तानों के बदलने के समय पर सवाल उठाए हैं।

क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, एसीबी ने असगर के चार साल की कप्तानी को समाप्त कर गुलबदिन नैब को वनडे, राशिद खान को टी-20 और रहमत शाह को टेस्ट टीम का कप्तान चुना है। नबी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि असगर ने टीम की कप्तानी अच्छे से की थी और उनके मार्गदर्शन में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है। नबी ने ट्वीट में लिखा, “टीम का सीनियर खिलाड़ी होने के नाते और अफगानिस्तान क्रिकेट को आगे बढ़ते देखने के बाद मैं नहीं समझता कि विश्व कप से पहले यह कप्तानी में बदलाव का सही समय है। टीम ने असगर के मागदर्शन में अच्छा किया है और मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है कि वह टीम का नेतृत्व करने के लिए उपयुक्त व्यक्ति हैं।”

31 वर्षीय असगर ने नबी के बाद टीम की कप्तानी संभाली थी। उनके कप्तान रहते हुए अफगानिस्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का पूर्णकालिक सदस्य बना और उसने पिछले महीने देहरादून में आयरलैंड के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट जीत दर्ज की। उनकी अगुवाई में टीम ने आईसीसी विश्व कप क्वालीफायर 2018 में जीत दर्ज की। उनकी टीम ने फाइनल में वेस्टइंडीज को हराया। अशगर की कप्तानी में अफगानिस्तान ने 59 मैचों में से 37 में जीत दर्ज की।

विश्व के नंबर 1 टी20 गेंदबाज राशिद को टी-20 टीम का कप्तान और वनडे टीम का उप-कप्तान बनाया गया है, लेकिन राशिद ने भी इस फैसले की आलोचना की है। राशिद ने ट्वीट कर लिखा, “चयन समिति का सम्मान करते हुए, मैं इस फैसले के खिलाफ हूं और इसे गैरजिम्मेदाराना तथा एकतरफा मानता हूं। हमारे सामने क्रिकेट विश्व कप है, ऐसे में असगर को कप्तान बने रहना चाहिए था। उनकी कप्तानी टीम की सफलता के लिए बेहद जरूरी है। विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से पहले कप्तानी में इस तरह के बदलाव से अनिश्चितता का माहौल बनता है और टीम के मनोबल पर भी असर पड़ता है।”

बता दें राशिद और नबी इस समय इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे हैं। एसीबी के अध्यक्ष अजीजुल्ला फाजली ने क्रिकइंफो से कहा कि कप्तानी में बदलाव होने से युवा कप्तानों को कप्तानी करने का मौका मिलेगा, जो देश में इस खेल के भविष्य हैं। उन्होंने कहा, विश्व कप में हमें नौ देशों के खिलाफ खेलना है। हमने सोचा कि कप्तानी बदलने का यह अच्छा समय है। फाजली ने कहा कि असगर सीनियर खिलाड़ी के रूप में टीम में खेलना जारी रखेंगे।