केरल में बाढ़ में डूबे 11 जिले, 37, 50 हजार से ज्यादा हुए बेघर

केरल में बाढ़ में डूबे 11 जिले, 37, 50 हजार से ज्यादा हुए बेघर

तिरुवनंतपुरम: केरल में मूसलाधार बारिश से 14 में से 11 जिले बाढ़ की चपेट में हैं और 50 हजार से ज्यादा लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है। वहीं इडुक्की डैम के आसपास, एर्नाकुलम और त्रिशूर में शनिवार को बारिश रुकने से लोगों को थोड़ी राहत मिली। इस बीच मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। उन्होंने बाढ़ में मारे गए लोगों के परिजनों को चार-चार लाख और घर-जमीन गंवाने वालों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा घोषित किया है।

मौसम विभाग ने शनिवार को राज्य के आठ जिलों में इडुक्की, वयनाड, मलप्पुरम, कोझिकोड, पालक्काड़, कोट्टायम और अलाप्पुझा में 13 अगस्त तक रेड अलर्ट घोषित किया गया है। बाकी जिलों में रविवार से हालात सामान्य होने की उम्मीद है। वहीं, इडुक्की में एक दिन पहले बांध के पांचों गेट खोलने पड़े थे। इससे हर सेकंड पांच लाख लीटर पानी बाहर आ रहा था, लेकिन शनिवार को इडुक्की में बारिश कम हो गई। इससे हालात जल्द ही सुधरने के आसार हैं।

इस बीच, मुख्यमंत्री पी विजयन ने नेता विपक्ष रमेश चेन्निथाला, राजस्व मंत्री ई चंद्रशेखरन, राज्य मुख्य सचिव टॉम जोस और राज्य पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा के साथ उत्तरी केरल के वायनाड, कलपेट्‌टा समेत अन्य बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा किया। मुख्यमंत्री पहले इडुक्की जा रहे थे, लेकिन खराब मौसम की वजह से दौरा रद्द कर दिया। मुख्यमंत्री ने बताया, ‘हमने आर्मी, नेवी, कोस्ट गार्ड और एनडीआरएफ से मदद मांगी है। नेहरू ट्रोफी बोट रेस को रद्द कर दिया गया है।’ बता दें कि केरल में आठ अगस्त से जारी भारी बारिश के बाद से बारिश संबंधी घटनाओं में 29 लोगों की जानें जा चुकी हैं।

नौसेना की ओर से दक्षिणी नवल कमांड ने वयानड में फंसे लोगों को बचाने के लिए चार टाइविंग टीमें और एक हेलीकॉप्टर भेजा है। वहीं, भारतीय थल सेना की ओर से भी अयान्नकुलु, इदुक्की और वयानड में लगभग 75 जवानों की टीम भेजी गई है। दो और टीमें कोझिकोड और मलप्पुरम भेजी गई है।

भारी बारिश से कांजीकोड और वालायर के बीच रेलवे ट्रैक को भी नुकसान पहुंचा है। इस रूट पर रेल सेवाएं रोक दी गई हैं। इस बीच रेलवे के उच्च अधिकारियों ने यहां का दौरा भी किया। उन्होंने रेलवे ट्रैक के जल्द सुचारू होने की उम्मीद जताई है।

तिरुवनंतपुरम। केरल में बारिश से हुई व्यापक क्षति को देखते हुए मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में एक लाख रुपये का व्यक्तिगत योगदान दिया है। विजयन ने फेसबुक पोस्ट में राहत कार्यों में हर किसी से योगदान करने की अपील की और कहा कि प्रभावित क्षेत्रों का पुनर्निर्माण कठिन कार्य है। मुख्यमंत्री ने हर किसी से संकट की इस घड़ी में राज्य के लोगों के साथ एकजुटता दिखाने की अपील की। इस बीच पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने बाढ़ से उत्पन्न स्थितियों से निपटने के लिए केरल सरकार को एक करोड़ रुपये की राहत सहयोग देने की घोषणा की।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केरल में भारी बारिश से हुए जानमाल के नुकसान पर दुख जताया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर आग्रह किया कि केंद्र सरकार राज्य के लिए तत्काल पर्याप्त धन जारी करे ताकि राहत एवं पुनर्वास कार्य प्रभावी ढंग से हो सकें। उन्होंने कहा, ‘आशा है कि केंद्र सरकार राज्य में चलाए जा रहे राहत एवं पुनर्वास के प्रयासों में सहयोग करेगी। इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने लोकसभा में इस मुद्दे को उठाया था। इस पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि केरल को मदद की जो भी जरूरत होगी, मुहैया कराई जाएगी।

India