देश के सात उत्कृष्ट लोगो को प्लान इण्डिया ने किया सम्मानित

देश के सात उत्कृष्ट लोगो को प्लान इण्डिया ने किया सम्मानित

लखनऊ। समाज में लोगों के स्वास्थ्य संबंधी क्षेत्र में पिछले तेरह वर्षों से सामाजिक कार्य कर रही आशा श्रेणी की सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता उत्तर प्रदेश की अनुपम सिंह को प्लान इंपैक्ट अवार्ड्स से सम्मानित किया गया है। प्लान इण्डिया संस्था के हुये इस अवार्ड्स समारोह में नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत और वरिष्ठ अभिनेत्री एवं सामाजिक कार्यकर्ता ने विजेताओं को पुरस्कार बांटे। कार्यक्रम में उपस्थित अन्य लोगों में गोविंद निहलानी, चेयर इमेरिटस, प्लान इंडिया गवर्निंग बोर्ड और रथी विनय झा, चेयरपर्सन, प्लान इंडिया गवर्निंग बोर्ड शामिल थे।

नयी दिल्ली में हुये इस समारोह में अवार्ड् प्रदान करने का उद्देश्य समाज के उन जमीनी कार्यकर्ताओं के अथक प्रयासों को सम्मानित करना है, जो देश भर के जिलों एवं गांवों में रहने वाले सर्वाधिक ज़रूरतमंद लोगों को आवश्यक एवं संवेदनशील सेवाएं पहुंचाने में सकारात्मक योगदान दे रहे हैं। भाग्यश्री देंगले, एक्ज़िक्यूटिव डायरेक्टर प्लान इंडिया ने कहा प्लान इंडिया विभिन्न समुदायों तथा गांव, जिला, राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर मौजूद सरकारी सेवा प्रदाताओं के बीच एक मज़बूत कड़ी निर्माण करने के प्रति समर्पित है, ताकि समाज के सबसे वंचित वर्ग तक पहुंचा जा सके। प्लान इंडिया इंपैक्ट अवार्ड्स हमारी इसी प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं।

इस मौके पर बोलते हुए अमिताभ कांत, सीईओए नीति आयोग ने कहा मैं सभी सात उत्कृष्ट विजेताओं को उनकी प्रतिबद्धता, दृढ़ता और समर्पण के लिए बधाई देना चाहता हूंए जिन्होंने अपने समाज में सभी लोगों के जीवन को बेहतर बनाने का काम किया है। यह जमीनी कार्यकर्ता ही सरकार के विकास कार्यक्रमों तथा योजनाओं की बेहद आवश्यक जानकारी एवं उनके फायदे लोगों तक पहुंचाने का काम करते हैंए जिससे कई ज़िंदगियां बचाई जाती हैं। वरिष्ठ अभिनेत्री एवं सामजिक कार्यकर्ता शबाना आज़मी ने कहा प्लान इंडिया इंपैक्ट अवार्ड्स के साथ यह मेरा दूसरा वर्ष है। मैंने इन पुरस्कारों की अवधारणा को विकसित होते देखा है। इन पुरस्कारों का उद्देश्य ही इन्हें परिभाषित करती है। ऐसे काफी कम मंच हैं जहां उन लोगों को सामने लाया जाता है जो पर्दे के पीछे रहकर बिना थके काम करते हैं और बदले में किसी फायदे की उम्मीद नहीं करते। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रेणी में ओडिसा की सुश्री कनकलता रऊला विजेता रहीं, जिन्होंने अपने जीवन के 24 वर्ष महिला एवं बाल स्वास्थ्य जानकारी एवं सहायता में बिताए हैं। वहीं झारखंड की 21 वर्षीय सुश्री परी सिंह को यूथ चैंपियन फॉर गर्ल्स राइट अवार्ड दिया गया। उन्होंने कहा समाज में अब भी काफी कुछ करने की ज़रूरत है, खासकर लैंगिक समानता, लड़कियों की शिक्षा, स्वच्छता सुविधाओं के क्षेत्र में काम करना होगा। अन्य श्रेणियों में ओडिसा के पिताबस माझी को आउटरीच कार्यकर्ता के रूप में दिये गये योगदान हेतु पुरस्कार दिया गया, और भागीरथी मोहराना को कम्यूनिटी वॉलंटियर श्रेणी में सम्मानित किया गया। राजस्थान के बीकानेर जिले के झज्जू को सर्वश्रेष्ठ स्कूल प्रबंधन समिति के रूप में पुरस्कार मिला और महाराष्ट्र के ठाणे मुंबई को सर्वश्रेष्ठ बाल कल्याण समिति के रूप में पुरस्कार दिया गया।