हम सब मिलकर भ्रष्टाचार मुक्त सुल्तानपुर विकसित करें: वरूण गांधी

हम सब मिलकर भ्रष्टाचार मुक्त सुल्तानपुर विकसित करें: वरूण गांधी

सुलतानपुर । सांसद वरूण गांधी ने आज विकास भवन सभागार में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों से अपेक्षा की कि जनपद सुलतानपुर को भ्रष्टाचार मुक्त एवं मॉडल जनपद के रूप में विकसित करने के लिए प्रयास की जरूरत है। उन्होंने जनपद को पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए फलदार वृक्षारोपण किये जाने पर विशेष बल दिया तथा विकास कार्यों को गुणवत्तापूर्ण समय से पूर्ण कराये जाने के साथ ही साथ जन कल्याणकारी योजनाओं को पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने के लिए अपेक्षा की।

सांसद श्री गांधी ने जनपद में स्वास्थ्य सेवाएं, सड़क निर्माण, ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के लिए शुद्ध पेयजल, विद्युतीकरण, स्वच्छ भारत अभियान, प्रधानमंत्री आवास योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, जन कल्याण विभिन्न योजनाआें आदि की समीक्षा की। स्वच्छ भारत अभियान के तहत जनपद में आवंटित धनराशि एवं उसके सापेक्ष व्यय तथा बनाये गए शौचालयों आदि के बारे में जानकारी सम्बन्धित अधिकारी से ली। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत कराये गए आवासों का निर्माण तथा दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अन्तर्गत किये गए कार्यों की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों से अपेक्षा की कि अधूरे कार्य समय से गुणवत्ता के आधार पर पूर्ण किये जाय। उन्होंने राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना के अन्तर्गत जनपद में कराये गये कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि नदी के किनारे वालों गावों में शुद्ध पेयजल हेतु हैण्डपम्पों को स्थापित कराया जाय। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत कराये गए सड़क निर्माण पर असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि इस योजना से जिन सड़कों का निर्माण कराया गया है वह गुणवत्तापूर्ण नहीं है, उन्हें पुनः ठीक कराया जाय। बैठक में मा. सांसद ने जनपद में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा को और बेहतर बनाये जाने के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी से विभिन्न विषयों पर जानकारी प्राप्त कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए फलदार वृक्ष महुआ, आम , अमरूद आदि लगाये जाने पर विशेष जोर देते हुए डीएफओ व अधिशाषी अभियन्ता पीडब्ल्यूडी से अपेक्षा की कि आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य योजना तैयार कर लें और सड़को के किनारे वृक्षारोपण कार्य का शुभारम्भ अगले माह से उनसे कराया जाय। सांसद ने जनपद के सभी विकास खण्डों अन्तर्गत कुम्हारी कला वाले व्यक्तियों से सम्पर्क कर मिट्टी के कुल्हड़ आदि बनाये जाने के सम्बन्ध में कहा कि इससे पर्यावरण प्रदूषण रोका जा सकता है। प्लास्टिक के ग्लास/पत्तल आदि से पर्यावरण का हनन हो रहा है, जिसे रोकने के लिए हम सभी को एक जन आन्दोलन चलाना होगा। उन्होंने बाल विकास, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, महत्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारन्टी योजना सहित विभिन्न योजनाओं की जानकारी सम्बन्धित अधिकारी से लेते हुए उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए कि किसी के दबाव में कोई भी अधिकारी कार्य कदापि न करें। यदि कहीं किसी अधिकारी को कठिनाई आ रही है तो उनसे सम्पर्क कर निस्तारण किसी भी समय करा सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक , मुख्य विकास अधिकारी के साथ विकास भवन परिसर में नीम का पौध भी रोपित किया।

बैठक में जिलाधिकारी विवेक ने जनपद में मनरेगा, गौशाला, स्वच्छ भारत अभियान, शुद्ध पेयजल हेतु हैण्डपम्पों के निर्माण आदि विषय पर जानकारी सांसद को दी तथा अनुरोध किया कि जनता दर्शन में गरीब व्यक्ति हैण्डपम्प, प्रधानमंत्री आवास के लिए आते हैं तो जिलाधिकारी स्तर से उन्हें दिये जाने हेतु कोटा निर्धारित किया जाय। पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने शहर में यातायात व्यवस्था, ट्रैफिक लाइट आदि के बारे में सांसद जी से अनुरोध किया। वहीं मुख्य विकास अधिकारी राधेश्याम ने जनपद के विकास एवं शौचालय निर्माण आदि पर प्रकाश डाला।

बैठक में एमएलसी शैलेन्द्र प्रताप सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बीडी सिंह, एएसपी सूर्यकांत त्रिपाठी, डीएफओ, सीएमओ डॉ सीबीएन त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी डॉ.डीआर विश्वकर्मा, पीडी एसके द्विवेदी, डीडी कृषि डीएसओ संजय कुमार प्रसाद, समाज कल्याण अधिकारी आरसी दूबे व सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक का संचालन अर्थ एवं संख्याधिकारी पन्नालाल ने किया।

Uttar Pradesh, India