खुदरा महंगाई दर 15 महीने के उच्चतम स्तर पर, औद्योगिक उत्पादन भी गिरा

खुदरा महंगाई दर 15 महीने के उच्चतम स्तर पर, औद्योगिक उत्पादन भी गिरा

नई दिल्ली: ईंधन, सब्जियों तथा अंडों के दाम बढ़ने से नवंबर महीने में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 4.88 फीसदी हो गई है। यह इसका 15 महीने का सबसे ऊंचा स्तर है। केंद्रीय सांख्यिकी कायार्लय (सीएसओ) के मंगलवार को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति अक्तूबर में 3.58 फीसदी पर थी। एक साल पहले नवंबर में यह 3.63 प्रतिशत थी। इससे पहले पिछले साल अगस्त में यह 5.05 फीसदी के उच्चस्तर पर थी। इसके साथ ही औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर भी गिरी है। औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर अक्तूबर में कम होकर 2.2 प्रतिशत रह गई, पिछले साल इसी माह में यह 4.2 प्रतिशत थी।

प्रोटीन वाले उत्पादों मसलन अंडों के दाम नवंबर में सालाना आधार पर 7.95 प्रतिशत बढ़े। इससे पिछले महीने अंडे की महंगाई 0.69 फीसदी थी। ईंधन और बिजली खंड में मुद्रास्फीति 7.92 फीसदी रही, जो अक्तूबर में 6.36 फीसदी थी। नवंबर में सब्जियों के दाम एक साल पहले की तुलना में 22.48 फीसदी बढ़े। अक्तूबर में यह 7.47 फीसदी ऊंचे थे। हालांकि, दलहन दामों में गिरावट का सिलसिला जारी है।