उपेक्षा न हुई तो अखिलेश के साथ ही रहेंगे: शिवपाल

उपेक्षा न हुई तो अखिलेश के साथ ही रहेंगे: शिवपाल

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल यादव ने बुधवार कहा कि मैं समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड रहा हूं तो सपा में ही हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर 11 मार्च के बाद मेरा अपमान या उपेक्षा ना हो तो हम साथ में ही रहेंगे। हालांकि, उन्होंने यूपी के सीएम और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम नहीं लिया। लेकिन उनकी साथ रहने वाली टिप्पणी अखिलेश की ओर इशारा कर रही थी। इसके अलावा शिवपाल यादव ने कहा, ‘जहां से कांग्रेस उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, मैं वहां नहीं जाना जाहता। अगर नेताजी चाहें तो मैं चला जाऊंगा। केवल समाजवादी पार्टी के लिए प्रचार करूंगा। मैं चाहता था कि नेताजी का सम्मान हमेशा रहे। मैं नेताजी के साथ हूं, उनका जो आदेश होगा, वो ठीक है।’

शिवपाल ने चुनाव वाले दिन जसवंतनगर में हुई घटना के बारे में कहा कि कुछ बड़े लोगों की इशारों पर डीएम, एसएसपी ने शांतिपूर्ण चुनाव में लाठी चार्ज करवाया। बता दें, शिवपाल यादव जसवंत नगर सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। शिपवाल ने कहा कि मैं जसवंत नगर सीट से हमेशा जीता हूं, वहां पर कुछ लोगों भाजपा के उम्मीदवार के साथ मिलकर गैरकानूनी गतिविधियां की। यह मुझे हराने के लिए मेरे खिलाफ साजिश रची गई थी।

बता दें, उत्तर प्रदेश के तीसरे चरण के चुनाव में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के काफिले पर हमले की खबरें आई थीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शिवपाल यादव को चुनाव में कुछ गड़बड़ी होने की खबरें मिली थी। इसके बाद वे वहां पर पहुंचे तो उनके काफिले पर पथराव किया गया था। इसके साथ ही पुलिस ने मतदान केंद्र पर मौजूद लोगों पर लाठियां बरसाई थीं। जहां शिवपाल यादव इसे साजिश बता रहे हैं, वहीं पुलिस का कहना है कि उन्होंने कानून-व्यवस्था बनाने के लिए लाठीचार्ज किया था।