तानाशाह हिटलर और मुसोलिनी भी दमदार ब्रांड थे

तानाशाह हिटलर और मुसोलिनी भी दमदार ब्रांड थे

राहुल गांधी ने उड़ाया भाजपा मंत्री अनिल विज का मजाक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को महात्मा गांधी से बेहतर ब्रांड बताने संबंधी हरियाणा के मंत्री अनिल विज की विवादास्पद टिप्पणी पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि तानाशाह हिटलर और मुसोलिनी भी बहुत दमदार ब्रांड थे। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने हरियाणा में भाजपा के वरिष्ठ नेता की टिप्पणियों को लेकर उनकी तीखी निंदा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। विज की टिप्पणी की व्यापक आलोचना हुई है, यहां तक कि उनकी पार्टी ने बयान की निंदा की है। राहुल ने एक ट्वीट में कहा, ‘हिटलर और मुसोलिनी भी बहुत दमदार ब्रांड थे।’

विज ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा कि यह अच्छा है कि खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के कैलेंडर और डायरी में गांधी की तस्वीर की जगह मोदी ने ले ली। साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि गांधी की तस्वीर करेंसी नोटों से भी धीरे धीरे हट जाएंगी। केवीआईसी कैलेंडर और डायरी पर मोदी की तस्वीर के बारे में पूछे जाने पर अंबाला कैंट से पांच बार विधायक ने कहा कि गांधी जी के नाम का खादी पर कोई पेटेंट नहीं है। हालांकि, बाद में उन्होंने अपनी टिप्पणी वापस ले ली।

अनिल विज के ‘विवादित’ बयान से खुद को अलग करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि इस बयान का पार्टी से कोई संबंध नहीं है। खट्टर ने कहा, ‘जहां तक खादी का सवाल है तो इसका श्रेय महात्मा गांधी को जाता है। उनके कारण खादी को बढ़ावा मिला।’

follow Office of RG ✔ @OfficeOfRG Hitler and Mussolini were also very powerful brands https://twitter.com/thetribunechd/status/820200087594745856 … 3:34 अपराह्न - 14 जनवरी 2017

बता दें, अनिल विज ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि महात्मा गांधी की छवि से खादी को कोई फायदा नहीं हुआ। साथ ही उन्होंने कहा कि गांधी की तस्वीर लगाये जाने के बाद से मुद्रा का अवमूल्यन हुआ है। अनिल विज के इस बयान के बाद इसकी चौतरफा आलोचना शुरू हो गयी और यहां तक कि उनकी पार्टी भाजपा ने भी इसकी निंदा की। खादी और ग्राम उद्योग आयोग के कैलेंडर और डायरी पर गांधी के स्थान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाये जाने को अच्छा बताया। उन्होंने कहा कि मोदी ‘बेहतर ब्रांड’ हैं। अपने बयानों के लिए पहले कई बार विवादों का सामना कर चुके विज ने यहां तक कह दिया कि गांधी की तस्वीर को धीरे-धीरे नोटों से भी हटाया जाएगा।